Saturday, July 2, 2022

आँखों के नीचे डार्क स्पॉट क्यों आते है ?

जरुर पढ़े

नमस्कार दोस्तों । फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन वेबसाइट में आप सभी का हम स्वागत करते हैं । आज हम आपको हमारे इस आर्टिकल में आँखों के नींचे डार्क स्पॉट क्यो अते हैं, ओर उसके लिये उपचार की चर्चा करेंगे ओर इससे जुड़ी जानकारी बताने वाले हैं । हमारे आंखो के नीचे काले घेरे आम बात हैं। अगर हमेशा आपकी आंखों के नीचे काले घेरे होने से आप थके हुए दिखते हैं, इस बारे मे लोग हमेशा बाते करते रहते है। डार्क सर्कल्स होने के कई कारण होते हैं। यह सिर्फ़ नींद की कमी से नहीं होता है.

काले घेरे क्यों होते हैं ?

आपकी आँखों के नीचे काले घेरे होने के बहोट से कारण हो सकते हैं। नीचे कुछ कारण हमने दिए है:

थकान :

अधिक समय तक सोने से, या बहुत थकान होनेसे, या अपने देर रात सोने से आपकी आंखों के नीचे काले घेरे आते हैं। नींद की कमी से आपकी त्वचा बेजान होती है ओर आपकी त्वचा के नीचे मेलानिन और सूक्ष्म कैपिलरी दिखना शुरू होता हैं। नींद की कमी से आपकी आंखों के नीचेवाटर डिपोजिशन होता है, जिससे वे सूजी हुई दिखाई देती हैं।

बढती आयु :

उम्र बढ़ना ये प्राकृतिक क्रिया है जिसकी वजह से आंखों के नीचे काले घेरे आते है।जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपकी त्वचा पतली होती जाती है और आपकी त्वचा में फैट और कोलेजन में कमी होती है। इस वजह से आपके आंखो के नीचे स्किन लूज होती है। इस वजह से आपकी त्वचा के नीचे की ब्लड कैपिलरी अधिक दिखाई देने लगती हैं, जिससे आपकी आंखों के नीचे काला पड़ जाता है।

आंख पर स्ट्रेस :

टीवी या कंप्यूटर स्क्रीन पर ज्यादा देर तक देखने से आपकी आंखों पर दबाव पड़ता है। और इस वजह से आपके आंखो के आसपास कैपिलरी बढ़ जाती है उसकी वजह से आपकी आंखों के आसपास की त्वचा काली पड़ सकती है.

एलर्जी :

एलर्जी और आंखों का सूखापन काले घेरे को बड़ा कर सकता है। जब आपको एलर्जी होती है, तो आपका शरीर एंटीबॉडीज से लड़ने के लिए हिस्टामाइन हार्मोन छोड़ता है। हिस्टामाइन की वजह से खुजली, लालिमा और सूजी हुई आंखें होती हैं। हिस्टामाइन भी आपकी रक्त वाहिकाओं को फैलाने और आपकी त्वचा के नीचे अधिक फैलाती है।एलर्जी आपकी आंखों के आसपास की खुजली पैदा करती है और त्वचा को रगड़ने और खरोंचने की आपकी इच्छा को बढ़ाती है। उस वजह से सूजन और लालिमा हो सकती हैं। इससे आपकी आंखों के नीचे डार्क शैडो तयार होकर काले घेरे आ सकते हैं।

निर्जलीकरण ( Dehydration) :

आपकी आंखों के नीचे काले घेरे का और एक कारण डिहाइड्रेशन है। जब आपका शरीर अच्छी तरह से हाइड्रेट नहीं होता है, तो आपकी आंखों के नीचे की त्वचा सुखी दिखने लगती है और आपकी आंखें धँसी हुई दिखती हैं। इसकी वजह से आंखो के नीचे ज्यादा काले घेरे दिखते है.

सन ओवर एक्सपोजर :

सूर्य के किरनो को अधिक समय तक आने से आपके शरीर में मेलेनिन बढ़ता है, मेलानिन से त्वचा को रंग मिलता है। बहुत अधिक धूप – विशेष रूप से आपकी आंखों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है इसकी वजह से मेलानिन बढ़ता है और काले घेरे भी बढ़ते है.

आनुवंशिकी(Hereditary) :

पारिवारिक इतिहास भी आपकी आंखों के नीचे काले घेरे विकसित करने में सहयोगी है। ये बचपन में ही पता चल जाता है और समय के साथ, काले घेरे हल्के हो सकते हैं या गहरे भी हो सकते हैं। हेरीडेटरी थायराइड की वजह से भी आपकी आंखों के नीचे काले घेरे भी हो सकते हैं.

रक्ताल्पता( Anemia) :

आपके लाल रक्त कोशिकाओं का स्तर कम होता है तो एनीमिया होता है।इसकी वजह से आपको :

  • चक्कर आ सकते है
  • कमज़ोर महसूस हो सकते है
  • सांस की कमी हो सकती है
  • थका हुआ महसूस होता है

यदि आपको एनीमिया है, तो आपकी त्वचा सामान्य से अधिक पीली रहती है, और आपकी आंखों के नीचे काले घेरे हो सकते हैं। आपकी आयरन की कमी देखने के लिए डॉक्टर द्वारा जांच करे और एनीमिया का उपचार करे जैसे:

  • आहार परिवर्तन
  • आयरन की गोलियां या इंजेक्शन
  • या ब्लड ट्रांजुशन

इलाज :

घरेलू उपचार –

आंखों के काले घेरे का उपचार वो काले घेरे किस प्रकार की है उन कारण पर निर्भर करता है। हालांकि, कुछ घरेलू उपचार हैं जो इसमें मदद करते हैं।

कोल्ड कंप्रेस लगाएं-

एक आइस पैक सूजन को कम करता है और काले घेरे को कम करने के लिए फैली हुई रक्त वाहिकाओं को सिकोड़ता है. एक साफ कपड़े में कुछ बर्फ के टुकड़े लपेटें और इसे अपनी आंखों पर लगाएं। आप एक कपड़े को ठंडे पानी से भीगोकर इसे अपनी आंखों के नीचे की त्वचा पर 20 मिनट के लिए लगाकर रखे इससे काले घेरे कम होने में मदद होती है।

अतिरिक्त नींद लें-

नींद पूरी करने से भी काले घेरों को कम करने में मदद मिल सकती है। नींद की कमी से आपकी त्वचा पीली दिखाई देती है, जिससे काले घेरे अधिक दिखते हैं.

अपना सिर ऊपर करे-

कम नींद की वजह से आपके आंखो के नीचे काले घेरे आते है लेकिन कभी-कभी यह आपके गलत सोने के तरीके से भी हो सकता है। अपने सिर को थोड़ा ऊपर उठाने की कोशिश करें इसके लिए तकिया ले। यह आपकी आंखों के नीचे फ्लूइड को जमा होने से रोकता है, जिससे वे फूली हुई और सूजी हुई नही दिखती हैं।

हाइड्रेटेड रहना –

ज्यादा पानी पीने की पूरी कोशिश करें। दूध, चाय और जूस सहित अन्य लिक्विड पदार्थ भी आपको हाइड्रेटेड रखने में मदद करते हैं। फल और सब्जियां खाने से आपके समग्र फ्लूइड पदार्थ का सेवन भी बढ़ जाता है।

टी बैग्स के साथ भिगोएँ-

चाय में कैफीन और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो रक्त प्रवाह को प्रोत्साहित करने और रक्त वाहिकाओं को सिकोड़ने और आपकी त्वचा के नीचे फ्लूइड जमा होने को कम करने में मदद करते हैं।दो ब्लैक या ग्रीन टी बैग्स को 5 मिनट के लिए गर्म पानी में भिगोए, फिर उन्हें 15 से 20 मिनट के लिए फ्रिज में रख दें। जब वे ठंडे हो जाएं, तो उन टी बैग्स को अपनी बंद आंखों पर 10 से 20 मिनट के लिए रखे, फिर उन्हें निकालिए और अपनी आंखों को ठंडे पानी से धो लें।

आई क्रीम ट्राई करें-

बाजार में कई आई क्रीम मिलते हैं। वे आपकी आंखों के आसपास की त्वचा को हाइड्रेट और नर्म करके काले घेरे कम करने में मदद करते है।

तो हमने आज देखा के आँखो के नीचे डार्क स्पॉट क्यू अटे है.हमें उमीद है आपको हमारे इस आर्टिकल से फायदा हुआ होगा.

 

धन्यवाद् !

 

 

 

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

error: Content is protected !!