Saturday, December 10, 2022

वास्तु शास्त्र अनुसार बाथरूम कैसा होना चाहिए Vastu For Bathroom

जरुर पढ़े

नमस्कार दोस्तों । फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन वेबसाइट में आप सभी का हम स्वागत करते हैं । आज हम आपको हमारे इस आर्टिकल में वास्तु शास्त्र अनुसार बाथरूम कैसा होना चाहिए इसके बारे में बताने वाले हैं । दोस्तों जैसे कि आप जानते हैं कि वास्तु शास्त्र का हमारे जीवन पर बहुत असर पड़ता है । आज के समय में तो जब बिल्डर अपना कंस्ट्रक्शन करता है तो वह खुद ही वास्तु शास्त्र की गाइडलाइन को इस तरह फॉलो करते हैं जैसे आगे चलकर किसी भी घर खरीदने वाले व्यक्ति को घर में वास्तु का दोष ना हो । इस बात से आप जान सकते हैं कि वास्तु शास्त्र कितना महत्वता का हो चुका है । लेकिन कई बार ऐसी चीजें देखने को मिलती है जहां घर का लेआउट वास्तु गाइडलाइन के अनुसार होता है लेकिन घर के इंटीरियर में इतने फेरबदल और बदलाव होते हैं जो घर की सकारात्मक ऊर्जा को खत्म करता है । और इंटीरियर स्ट्रक्चरल डिजाइन चेंज होने के चलते आपके घर में वास्तु दोष उठ खड़ा होता है ।

हर किसी को अपना घर सुंदर बनाना होता है । हर किसी को चाहा होती है कि उसका घर सबसे सुंदर दिखे और उसका इंटीरियर डिजाइनिंग घर की शोभा बढ़ा दे । इसी चक्कर में मैं घर के ऑल डाइनिंग रूम और बेडरूम जैसी जगहों को सबसे अच्छा बनाते हैं लेकिन जब बात बाथरूम की आती है तो बाथरूम जैसी जगहों पर ध्यान कम जाता है । दोस्तों बाथरूम एक ऐसी जगह होती है जो वास्तु शास्त्र अनुसार नेगेटिव एनर्जी का अधिकतर प्रकोप वही होता है । ऐसी मान्यता है कि बाथरूम में नेगेटिव एनर्जी की भरमार होती है क्योंकि हर शख्स जब नहाता है तो वह फ्रेश हो जाता है क्योंकि उसकी बॉडी की सारी नेगेटिव एनर्जी धल जाती हैं । इसीलिए आपको इस नेगेटिव एनर्जी पर विशेष तौर पर ध्यान देना चाहिए और बाथरूम को वास्तु शास्त्र अनुसार ही बनाना चाहिए जिससे आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे । तो दोस्तों चलिए जानते हैं वास्तु शास्त्र अनुसार घर का बाथरूम कैसा होना चाहिए ।

वास्तु शास्त्र अनुसार बाथरूम कैसा होना चाहिए Vastu For Bathroom In Hindi :

दोस्तों आप जब भी घर का इंटीरियर डेकोरेशन करें तो आपको बाथरूम को बिल्कुल भी नहीं भूलना चाहिए । बाथरूम की दिशा, बाथरूम की दीवारों पर कलर या टाइल्स, बाथरूम का दरवाजा, बाथरूम ड्रेनेज पाइप या नल और बाथटब किस तरह के होने चाहिए और किस दिशा में होनी चाहिए इसके बारे में आज हम आपको बताएंगे । यदि यह सब चीजें वास्तु गाइडलाइन मुताबिक सही हो तो आपके घर में सुख शांति और समृद्धि बनी रहेगी अन्यथा घर में लोगों के बीच तनाव, अनगिनत समस्या, पैसों की तकलीफ या स्वास्थ्य तू छोटी बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है । तो चलिए दोस्तों जानते हैं कि आपके घर का बाथरूम वास्तु शास्त्र अनुसार कैसा होना चाहिए ।

वास्तु शास्त्र अनुसार बाथरूम की दिशा क्या होनी चाहिए Bathroom Direction as per Vastu Shastra in Hindi :

दोस्तों घर के बाथरूम की दिशा वास्तु शास्त्र अनुसार उत्तर अथवा उत्तर पूर्व दिशा के घर के कोने में होना चाहिए । दक्षिण या दक्षिणी पश्चिम दिशा में कभी भी बाथरुम का निर्माण नहीं बनाना चाहिए । यदि ऐसा है तो आपको फॉरेन बाथरूम की जगह बदलने चाहिए अन्यथा आपके घर पैसों की समस्या हमेशा बनी रहेगी । वास्तु शास्त्र अनुसार बाथरूम की दिशा उत्तर अथवा उत्तर पूर्व दिशा बेस्ट मानी जाते हैं ।

वास्तु शास्त्र अनुसार बाथरूम का दरवाजा कैसा होना चाहिए Bathroom Door as Per Vastu Shastra in Hindi :

दोस्तों वास्तु शास्त्र मुताबिक बाथरूम का दरवाजा आप के मुख्य द्वार के मुकाबले साइज में छोटा होना चाहिए । बाथरूम का दरवाजा कभी बाहर की तरफ नहीं खुलना चाहिए ऐसा होने पर नेगेटिव एनर्जी बाथरूम से घर के अंदर प्रवेश करेगी । और आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव भाव बढ़ जाएगा । साथ ही बाथरूम का दरवाजा उत्तर अथवा उत्तर पूर्व की दिशा में खुलना चाहिए ।

वास्तु शास्त्र अनुसार बाथरूम के दरवाजे का रंग क्या होना चाहिए Bathroom Door Color as per Vastu :

दोस्तों वास्तु अनुसार बाथरूम के दरवाजे का रंग सफेद अथवा कोई लाइट कलर जैसे क्रीम कलर का होना चाहिए । दरवाजे को लाल अथवा काले या किसी अन्य डार्क रंग से कभी नहीं रंगना चाहिए । दोस्तों डांस कलर्स नेगेटिविटी को पकड़े रखते हैं और इसी के चलते नेगेटिविटी का प्रकोप बढ़ सकता है । साथ ही सफेद या क्रीम कलर का दरवाजे पर धूल मिट्टी या गंदा होता है तो आसानी से दिखाई दे सकता है और आपको उस धूल मिट्टी को या गंदगी को तुरंत साफ करना चाहिए ।

बाथ टब के लिए वास्तु गाइडलाइन Vastu Anusar Bath Tab Kaisa Hona Chahiye :

दोस्तों वास्तुशास्त्रानुसार बाथ टब बाथरूम में हमेशा उत्तर या उत्तर पूर्वी दिशा में होना चाहिए । बातों का आकार गोल अथवा रैक्टेंगल होना चाहिए । इस बात का ध्यान रहे की बात कर नोकिला नहीं होना चाहिए । जब भी बाथटब यूज़ में ना हो तो उसे पानी से भरा नहीं रखना चाहिए । बाथटब का रंग काला अथवा लाल नहीं होना चाहिए । वास्तु शास्त्र अनुसार बाथ टब के आगे आपको पर्दा लगाना चाहिए जो लाइट रंग का होना चाहिए ।

वास्तु शास्त्र अनुसार अटैच बाथरूम शुभ होता है या अशुभ Attach Toilet Bathroom as per Vastu in Hindi :

दोस्तों वास्तु शास्त्र अनुसार अटैच टॉयलेट बाथरूम अपने घर कभी नहीं होने चाहिए । लेकिन घर की जगह कम होने के चलते बड़े-बड़े शहरों में और टॉयलेट बाथरूम अटैच बनने लगे हैं । यदि आपके घर भी अटैच बाथरूम है तो आपको इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि अटैच टॉयलेट बाथरूम की दिशा घर के उत्तर पश्चिमी दिशा में होनी चाहिए । अन्य दिशा आपके घर में ईर्ष्या क्लेश और बदले की भावना जैसे नकारात्मक ऊर्जा को जन्म दे सकती है ।

घर का बाथरूम वास्तु शास्त्र अनुसार कैसा होना चाहिए कि अन्य जानकारी Bathroom Vastu Guideline in Hindi :

  • बाथरूम को हमेशा साफ सुथरा रखना चाहिए ।
  • आप बाथरूम में सुगंध परफ्यूम हमेशा रखनी चाहिए ।
  • बाथरूम की दीवार मंदिर की दीवार के साथ अटैच नहीं होनी चाहिए ।
  • बाथरूम का दरवाजा हमेशा बंद रखना चाहिए ।
  • दोस्तों बाथरूम की नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए बाथरूम में एग्जास्ट फैन लगाना चाहिए ।
  • बाथरूम में उत्तर या उत्तर पूर्वी दिशा में खिड़की जरूर होनी चाहिए जैसे बाथरूम में अच्छी वेंटीलेशन रहे और नेगेटिव एनर्जी खिड़की के जरिए दूर जा सके ।
  • ड्रेनेज सिस्टम यदि खराब होता है तो आपको इसे फौरन ठीक कर आना चाहिए और इसमें विलंब नहीं करना चाहिए ।
  • यदि आपके बाथरूम का कोई नल लीकेज है तो उसे फौरन रिपेयर कराना चाहिए ।

हमें उम्मीद है कि आपको हमारे इस दिए हुए वास्तु शास्त्र फॉर बाथरूम की गाइड लाइन से फायदा हुआ । फिर भी आपको बाथरूम से जुड़े हुए अन्य सवाल तो आप हमें हमारे कमेंट बॉक्स में नीचे लिख कर हमें बता सकते हैं । 

घर का मुख्य द्वार वास्तु शास्त्र अनुसार कैसा होना चाहिए Vastu For Main Door

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article