Wednesday, September 28, 2022

भारत का सबसे छोटा राज्य कौन सा है?

जरुर पढ़े

हेलो दोस्तों, २०११ की जनगणना के अनुसार भारत में कुल २८ राज्य और ८ केंद्र शासित प्रदेश है। आज हम बात करेंगे भारत का सबसे छोटा राज्य कौन सा है? इस बारे में। तोह आज हम इस लेख में इन ८ केंद्र शासित प्रदेशो को अलग रखेंगे।

आपके जानकारी के लिए बता दे, की क्या होते है केंद्र शासित प्रदेश?

एक केंद्र शासित प्रदेश भारत गणराज्य में एक प्रकार का प्रशासनिक प्रभाग होता है। भारत के राज्यों के विपरीत, जिनकी अपनी सरकारें हैं। केंद्र शासित प्रदेश भारत की केंद्र सरकार द्वारा आंशिक रूप से या संपूर्ण रूप से शासित संघीय क्षेत्र होता हैं। वर्तमान में भारत में कुल ८ केंद्र शासित प्रदेश हैं।

तोह आइये बात करते है की भारत का सबसे छोटा राज्य कौन सा है?

जैसे की आप सब जानते है भारत एक विभिनताओ से भरपूर देश है। भारत के कई राज्य आकर में बहोत बड़े तो कई राज्य बहोत ही छोटे है। पर इनके आकर से इनकी लोकसंख्या बहोत ही अलग होती है। तो आज हम आपको “भारत का सबसे छोटा राज्य कौन सा है” इसके साथ लोकसंख्या और क्षेत्रफल के आधार पर भारत के सबसे छोटे राज्यों के बारे में बताएंगे।

भारत का सबसे छोटा राज्य गोवा है।

पर आप और क्या जानते है गोवा के बारे में? तो चलिए हम बताते है आपको।

गोवा का कुल क्षेत्रफ़ल ३,७०२ वर्ग किलोमीटर है।

गोवा भारत के तटीय भाग का एक हिस्सा है जिसे कोंकण के नाम से जाना जाता है। जो पश्चिमी घाट पर्वत श्रृंखला तक बढ़ रहा है, जो गोवा को दक्कन पठार से अलग करता है। इस पठार का उच्चतम बिंदु सोनसोगोर है। जिसकी ऊंचाई ३,८२९ फूट है। गोवा की तटरेखा १६० किलोमीटर लम्बी है। गोवा की सात प्रमुख नदियाँ है। जिनका नाम जुआरी, मंडोवी, तेरेखोल, चापोरा, गलगीबाग, कुम्बरजुआ नहर, तलपोना और साल हैं।

जुआरी और मंडोवी सबसे महत्वपूर्ण नदियाँ हैं। ये नदियाँ कुम्बरजुआ नहर द्वारा एक दूसरे के बीच में एक प्रमुख मुहाना परिसर का निर्माण करती हैं।

दोनों नदियाँ दक्षिण-पश्चिम मानसूनी वर्षा से पोषित होती हैं। इन दोनों नदियों की जलनिकासी घटिया राज्य के भौगोलिक क्षेत्र के ६९% हिस्से को कवर करती हैं।

ये नदियाँ भारत की सबसे व्यस्त नदियों में से कुछ हैं। गोवा में ४० से अधिक मुहाने, ८ समुद्री मुहाने और लगभग ९० नदीय द्वीप हैं।

गोवा की नदियों की कुल लंबाई २५३ किलोमीटर है। गोवा में कदंब राजवंश के शासन के दौरान निर्मित ३०० से अधिक प्राचीन पानी की टंकियां और १०० से अधिक औषधीय झरने हैं।

जलवायु वर्गीकरण के तहत गोवा एक उष्णकटिबंधीय मानसून जलवायु भाग है। गोवा एक उष्णकटिबंधीय क्षेत्र होने के साथ अरब सागर के पास होने के कारण, वर्ष के अधिकांश समय में गर्म और आर्द्र जलवायु रहती होता है।

इस राज्य को दो जिलों में बांटा गया है – उत्तरी गोवा और दक्षिण गोवा। प्रत्येक जिले को एक जिला कलेक्टर द्वारा प्रशासित किया जाता है, जिसे भारत सरकार द्वारा नियुक्त किया जाता है। पणजी उत्तरी गोवा जिले का मुख्यालय है और गोवा की राजधानी भी है। मडगांव दक्षिण गोवा जिले का मुख्यालय है।

सबसे छोटा राज्य
सबसे छोटा राज्य

गोवा के प्रमुख शहर पणजी, मडगांव, वास्को, मापुसा, पोंडा, बिचोलिम और वालपोई हैं।

पर्यटन गोवा का प्राथमिक उद्योग है, इसे भारत में आने वाले विदेशी पर्यटकों का १२% प्राप्त होता है। गोवा भारत का सबसे धनी राज्य है जहां प्रति व्यक्ति उच्चतम सकल घरेलू उत्पाद है। गोवा के समुद्र तट से दूर भूमि खनिजों और अयस्कों में समृद्ध है, और खनन गोवा का दूसरा सबसे बड़ा उद्योग है।

गोवा के मूल निवासी को गोअन कहा जाता है। गोवा भारत का चौथा सबसे कम आबादी वाला राज्य है। सिक्किम, मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश के बाद।

गोवा, दमन और दीव राजभाषा अधिनियम, १९८७ देवनागरी लिपि में कोंकणी को गोवा की एकमात्र आधिकारिक भाषा बनाता है। लेकिन यह प्रदान करता है कि मराठी का उपयोग सभी या किसी भी आधिकारिक उद्देश्यों के लिए भी किया जा सकता है।

तोह कैसी लगी आपको यह भारत का सबसे छोटा राज्य की जानकारी हमें जरूर बताइये।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

error: Content is protected !!