Saturday, July 2, 2022

सिर दर्द का घरेलु इलाज कैसे करे?जानिए आसान तरीके

जरुर पढ़े

नमस्कार दोस्तों फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन वेबसाइट में आप सभी का हम स्वागत करते हैं।आज हम आपको सिर दर्द के बारे में जानकारी देने वाले हैं,जैसे कि सिर दर्द होने की वजह क्या हो सकती है और सिरदर्द के प्रकार क्या-क्या हो सकते हैं और उससे होने वाले जो नुकसान है उनके बारे में हम आज आपको जानकारी देंगे और इसके साथ सिर दर्द का घरेलु इलाज जो आप आजमा सकते हैं,उसके बारे में भी हम आपको जानकारी देंगे,सिर दर्द मुख्य रूप कहां जाए तो तनाव, हद से ज्यादा नींद अच्छी तरह से नहीं होना, भुक इलेक्ट्रिक उपकरणों, ज्यादा शोर से, कभी-कभी अधिक ज्यादा सोचना, और पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना इन कारणों से सिरदर्द हो सकता है।

Table of Contents

सिरदर्द के कारण (Causes of Headache)

सिर दर्द मुख्य रूप से कहां जाए तो  तनाव, हद से ज्यादा नींद अच्छी तरह से नहीं होना, भुक इलेक्ट्रिक उपकरणों, ज्यादा शोर से, कभी-कभी अधिक ज्यादा सोचना, और पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना इन कारणों की वजह से हो सकता है। तो आइये जानते है उसके और कुछ कारण

आंखों की समस्या(eyes issues)

कभी आंखो के वजह से भी सिर दर्द होने लगता है। अगर आपको आंखों से धुंधलापन दिखाई देता है,इस वजह से हम कुछ चीज देखने के लिए ज्यादा कंसंट्रेशन करते हैं। इससे दिमाग पर ज्यादा प्रेशर की वजह से सिर दर्द हो सकता है,आपको आंखों का प्रॉब्लम है तो कृपया जल्दी से डॉक्टर को दिखाइए।

किसी प्रकार की एलर्जी(allergy)

किसी प्रकार का एलर्जी है,इस वजह से भी सिर दर्द होता है,इसीलिए डॉक्टर की सलाह से एंटीबायोटिक दवा लेने से दर्द कम हो सकता है।

चाय की या शराब की आदत(addiction)

कहीं लोगों को चाय पीने की ज्यादा आदत होती है। अगर उनके टाइम के हिसाब से उन्हें चाय ना मिली तो इन लोगों का सिर दर्द चालू हो जाता है। जो लोग ज्यादा शराब पीते हैं उन लोगों को भी सिर दर्द का अनुभव हो सकता है।

थकावट की वजह से(Exhaustion)

तनाव या शरीर की थकावट इसके वजह से भी सिर दर्द होता है। क्योंकि,इसमें आपकी ऊर्जा ज्यादा खत्म होती है। इसलिए,आप 10 से 15 मिनट रोजाना ध्यान अवश्य कीजिए। इससे आप तनाव से भी मुक्त होंगे और शरीर की थकावट भी दूर होगी।

कंप्यूटर की वजह से(using computer)

लंबे समय तक काम करना, पूरा टाइम कंप्यूटर के ऊपर काम करना पड़ता है। इसलिए,आंखों को तकलीफ होती है। इस वजह से सिर दर्द होने लगता है।

पर्याप्त नींद ना होना(insomnia)

कभी कबार ज्यादा टाइम काम करने से रात को सोने के लिए देरी हो जाती है। इस वजह से अपर्याप्त नींद पूरी न होने से सुबह उठकर सिर दर्द होने लगता है।

मोबाइल का इस्तेमाल(using mobile)

फोन पर ज्यादा बात करना, जरूरत से ज्यादा सोचना और अत्यधिक शोर से भी सिर में दर्द होने लगता है। इसीलिए,आपको थोड़ा टाइम आपके बॉडी को रेस्ट देना जरूरी है।

मौसम का बदलना(weather)

मौसम के बदलाव से भी सिर दर्द होने लगता है जैसे कि ज्यादा गर्मी हो रही है तो उसे से सिरदर्द हो सकता है।

सिरदर्द के प्रकार (Types of Headache)

  1. माइग्रेन की वजह से भी सिर दर्द होता है। यह दर्द महिलाओं को पुरुषों से दो या तीन गुना ज्यादा दिखाई देता है। माइग्रेन से सिर दर्द होता है लेकिन उसके साथ थकान, नींद की कमी ऐसे लक्षण, उल्टी,जी मचलाना ऐसे लक्षण भी दिखाई देते हैं।
  2. अगर आपकी नींद सिर दर्द से खुल जाती है तो उसे क्लस्टर हेडॅक कहते हैं। यह 25 से 50 साल के उम्र के लोगों को हो सकता है। इसके अलावा ब्लड प्रेशर और ब्रेन ट्यूमर की वजह से भी सिर दर्द होता है।
  3. धमनियों का टूट जाने से, चोट के वजह से दिमाग में खून बहने लगता है नहीं तो स्ट्रोक की वजह से सिर दर्द होता है। इसे थंडरक्लैप सिर दर्द कहां जाता है। यह सिर दर्द बहुत तेज और अचानक से चालू होता है। चक्कर आना, बेहोशी आना ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं।

सिर दर्द होने के नुकसान(Side Effects of Headache)

  • आज काल की जीवन शैली में सिरदर्द होना एक आम समस्या है। लोग सोचने लगते हैं कि कुछ कमी के वजह से सिरदर्द हो रहा है और ज्यादा गंभीरता से नहीं लेते हैं। अगर आपको सिर दर्द रोजाना हो गया होगा तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं क्योंकि,ब्रेन ट्यूमर, किसी तरह का इन्फेक्शन हो सकता है।
  • कुछ लोगों को सिर दर्द होने के साथ दांत और मसूड़ों को भी दर्द होता है। क्योंकि ब्रेन से आने वाले नसे चेहरे के इधर आती है। इसलिए सिर दर्द यह नसों को भी प्रभावित करने लगता है इस वजह से दांत मसूड़ों जबड़ो में तकलीफ होने लगती है।
  • कभी कबार दो सिर दर्द के साथ गर्दन दर्द भी होने लगता है। इस दर्द को माइग्रेन का अटैक ऐसा भी कहा जाता है। तकरीबन 4% लोगों को माइग्रेन का अटैक आता है।
  • सिर दर्द होने से आंखों में धुंधलापन आ जाता है। इस वजह से कुछ काम करते समय आंखों के ऊपर ज्यादा प्रेशर आ जाता है।
  • सर पर चोट लगने से दिमाग में खून बहने लगता है नहीं तो धमणिया टूट जाती है। इसकी वजह से सिर में ज्यादा दर्द होने लगता है और लंबे समय तक रहता है।

सिर दर्द के लिए घरेलू उपाय(Home Remedies for Headache)

तो आइए दोस्तों आज हम आपको सिर दर्द के लिए घरेलू उपाय बताने वाले हैं जो आपके लिए कारगर उपाय साबित हो सकते हैं तो चलिए जानते हैं सिर दर्द के लिए घरेलू उपाय क्या और कैसे करना चाहिए

बादाम के इस्तेमाल से(badam ka istemal se)

सिरदर्द के लिए दवा की जगह पर बादाम खाइए। इसमें सैनेलिन होनें से यह सिर दर्द के लिए प्राकृतिक उपचार है। सिर दर्द को राहत पाने के लिए आप एक मुट्ठी बादाम खा सकते हैं।

पुदीना हैं सिर दर्द का घरेलु इलाज(pudina ka istemal)

पुदीने के पत्ते के रस को अपने माथे पर लगाइए इससे आपका सिर दर्द कम हो जाएगा। आपर पुदीनें की चाय या जूस भी सेवन कर सकते हैं।

अदरक से होगा,सिर दर्द का घरेलु इलाज(ginger ka istemal)

अदरक की चाय पीने से सिर दर्द ही नहीं माइग्रेन के प्रॉब्लम को भी छुटकारा मिलता है। अगर आप अदरक का पाउडर में थोड़ा सा पानी डालकर माथे पर लगा लेते हैं तो सिर दर्द कम हो जाता है।

सिर दर्द के लिए तुलसी है फायदेमंद(tulsi ka istemal)

तुलसी सिर दर्द को कम करता है क्योंकि यह मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।  एक कप पानी में तुलसी के कुछ पत्ते उबाल लीजिए। कुछ देर तक उबलने के बाद चाय की तरह इसे पी लीजिए। इसमें आप थोड़ा सा शहद भी डाल सकते हैं।

निंबू के इस्तेमाल से(nimbu ka istemal)

कहीं बार पेट में गैस बढ़ जाता है इसी कारण सिर में दर्द होने लगता है। एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू निचोड़ कर पीए। इसमें चाहे तो आप थोड़ा सा शहद भी मिला सकते हैं।

तेल मालिश से होगा सिर दर्द दूर(oil massage)

बादाम, नारियल और जैतून के तेल से कुछ देर के लिए सिर की मालिश करेंगे तो सिर दर्द कम हो जाएगा। तेल की मसाज से आपकी मांसपेशियों को भी आराम मिलता है।

सिर दर्द के लिए चंदन के फायदे(chandan ka istemal se)

चंदन की लकड़ी को थोड़ा सा घिस कर पेस्ट बनाकर उस पेस्ट को अपने माथे पर लगा लीजिए। इस वजह से आपको थोड़ा सा ठंडक मिलेगा और आपका सिर दर्द कम होगा।

बर्फ से दूर भगाए सिर दर्द(ice ka istemal se)

बर्फ से सूजन कम हो सकती है। बर्फ एक क्यूब पतले कपड़े में लेकर इसे गर्दन के पीछे लगा सकते हैं अगर आपको माइग्रेन का प्रॉब्लम है तो इससे आपको राहत मिलेगी।

सिर दर्द का घरेलु इलाज है लोंग(clove ka istemal se)

लौंग के तेल से सर पर मालिश कीजिए। नहीं तो लोंग के पाउडर को सुघते रहिए इससे आपको सिर दर्द से छुटकारा जरूर मिलेगा।

देसी घी के इस्तेमाल से(dess ghe ka istemal se)

अपने नाके के दोनों बाजु में 2 2 बुंद पिघला हुआ शुद्ध घी डालिए। 10 से 15 मिनट के बाद आपको सिर दर्द को आराम जरूर मिलेगा।इसे आपकी मेमोरी भी बढ़ सकती है।

सिर दर्द का घरेलु इलाज है लहसुन(garlic ka istemal se)

लहसुन के कुछ टुकड़े से उससे निचोड़ कर एक चमच रस निकालकर उसे पी लीजिए। लहसुन पेन किलर जैसा काम करता है इसके वजह से आपको सिरदर्द में राहत मिलेगी।

सिर दर्द में क्या ख्याल रखें(take care of)

दोस्तों हम कितना भी उपाय कर ले लेकिन जब तक हम अपना खुद का ध्यान नहीं रखते तब तक कुछ फायदा होने वाला नहीं है तो आइए जानते हैं सिर दर्द के लिए कैसे खयाल रखना चाहिए

नमक कम करें(namak kam kare)

बहुत अधिक नमक वाली चीजें माइग्रेन बढ़ने का कारण बन जाती है। इसलिए सॉलिटी -पेपर फूड को टालिए। नमक की मात्रा कम करें।

ठंडी चीजें(cold things)

गर्म तापमान के बाद अगर ठंडी चीजें खाएंगे तो माइग्रेन का प्रॉब्लम अवश्य बढ़ेगा। आइसक्रीम जैसे चंडी चीजें खाने से माइग्रेन का अटैक आ सकता है। माइग्रेन से बचने के लिए संतुलित आहार ही जरूरत है। इसमें हरी और पत्तेदार सब्जियां शामिल कीजिए।

ताजा खाना(freash food)

अक्सर बासी खाना खाने से माइग्रेन बढ़ जाता है। इसलिए जरूरी है कि आप हमेशा ताजा खाना ही खाइए।

पानी पिए(drinking water)

जब आपका बहुत सिर दर्द हो रहा है तब ज्यादा पानी पीने से दर्द कम हो जाएगा। रोजाना कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पीना जरूरी है। गर्मी के मौसम में पानी की मात्रा और बढ़ाइए। जिन फलों में पानी की मात्रा ज्यादा हो वह फल सेवन करना चाहिए।

चॉकलेट(chocolate)

चॉकलेट में कोको की मात्रा कम होती है इसमे कैफ़ीन और टायरामीन जैसे केमिकल पाए जाते हैं। आपको ज्यादा चॉकलेट खाने की आदत है इस वजह से आपका सिर दर्द हो सकता है।

ऊपर दिए गए हुए घरेलू उपाय आपको सिर दर्द से राहत दिला सकते हैं लेकिन आपका सिर दर्द बढ़ता ही जा रहा है तो कृपया डॉक्टर के पास जरूर जाइए।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

error: Content is protected !!