शरीर तंदुरुस्त बनाने के लिए क्या करे ? एक्सरसाइज / योग / खेल ?

शरीर तंदुरुस्त बनाने के लिए क्या करे ?

शरीर तंदुरुस्त बनाने के लिए क्या फायदेमंद ? कोनसी एक्सरसाइज फायदेमंद रहेगी ?

जिम वर्कआउट ?

योग साधना ?

मैदानी खेल (स्पोर्ट्स गेम्स) ?

शरीर तंदुरुस्त बनाने के लिए क्या करे ?

नमस्कार दोस्तों आज का हमारा टॉपिक है, शरीर तंदुरुस्त बनाने के लिए क्या फायदेमंद रहेगा ?जैसे कि जिम वर्कआउट, योग साधना, मैदानी खेल इत्यादि।

दोस्तों हमारे सर्वे के अनुसार यह पाया गया है कि दुनिया में लोग अपने आयु के अनुसार से एक्सरसाइज करना पसंद करते हो जैसे नौजवान बच्चे मैदानी खेल खेलना पसंद करते हैं। बैचलर और जवान लोग जिम वर्कआउट में ज्यादा पार्टिसिपेट करते है। और बुजुर्ग योग साधना करते हैं। आजकल की भागदौड़ की जिंदगी में और प्रदूषित वातावरण को देखते हुए हमें हमारे शरीर को तंदुरुस्त रखना बहुत ही जरूरी है |शरीर तंदुरुस्त बनाने के लिए क्या करे ?

इसी भागदौड़ भरी जिंदगी में ऐसे हमें खाने पीने के लिए भी टाइम निकालना मुश्किल होता है, इसी वजह से हमारे शरीर की तंदुरुस्ती दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है। और हम हमारे शरीर के ऊपर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। जिसके कारण हमारी जीवन जीने की आयु कम हो रही है। और ना ही हम हमारे शरीर के लिए जिम वर्कआउट, योग साधना में जाने के लिए टाइम निकाल पा रहे हैं। दोस्तों में आज यह बताने वाला हूं।

जैसे कि ऊपर दिए गए एक्सरसाइज में से कौन सा आपको फायदेमंद रहेगा। वैसे तो ऊपर दिए गव वर्कऑउट में से आपको आपके टाइम के हिसाब से वर्कआउट सेलेक्ट करके वह वर्कआउट आप कर सकते है।

चलिए बढ़ते हैं एक्सरसाइज की तरफ :

1. जिम वर्कआउट से बन सकता है शरीर तंदुरुस्त ?

जिम वर्कआउट यह वर्कआउट आपको जिम में जाकर भी करना पड़ता है; जहां पर ढेर सारी मशीनरी होती है वर्कआउट करने के लिए। वर्कआउट करने के लिए या तो आपको उस वर्कआउट के बारे में नॉलेज होना चाहिए या फिर आप इस वर्कआउट को करने के लिए कोई ट्रेनर लेना चाहिए।

वैसे अगर आप एक बैचलर हो या हाई स्कूल स्टूडेंट हो, या कोई कॉलेज स्टूडेंट हो और आपके पास आपके कॉलेज करने के बाद समय बचता है, तो आप जिम जॉइन कर सकते है, और जिम में जाकर के आपको यह सारे वर्कआउट करने है।

अगर आपको इसका नॉलेज होगा तो आप खुद से कर सकते हैं, या तो कोई ट्रेनर से सलाह लेकर आप यह वर्कआउट कर सकते हैं। जिम नॉलेज होना याने क्या? जैसे कि आपको पता होना चाहिए कौन सा वर्कआउट कितनी बार करें, और कितने देर तक करें और उस वर्कआउट को करने के बाद आपको किन किन चीजों का सेवन करना है। जैसे ही खाने में क्या खाना है ? पीने में कौन सा जूस पीना है ? कोन से एनर्जी ड्रिंक पीना है ? इन सभी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है।

अगर आपको इन सभी चीजों का नॉलेज है तो आप खुद से जिम में वर्कआउट कर सकते हैं। नहीं तो आप ट्रेनर ज्वाइन कर लीजिए वह आपको हर एक चीज के बारे में बारी-बारी से सलाह देगा।

2. योग साधना बना सकता है शरीर तंदुरुस्त ?

दोस्तों योग साधना यह हमारे भारतवर्ष के ऋषि मुनियों की देन है। जो कि दुनिया के हर कोने कोने में आज फैली हुई है। और लोग इसे बहुत ही उत्सुकता से करते हैं, और इसका फायदा भी लोगों को तुरंत मिलता है।

दोस्तों योग साधना याने क्या ?

योग साधना इसके अंदर मेडिटेशन यह एक टॉपिक आता है, उसके बाद व्यायाम प्रकार यह एक टॉपिक आता है। और हमारे भारतीय संस्कृति का ज्ञान हमें इसके जरिए पता चलता है। देखा जाए तो आज के दौर में योग साधना को लोग बड़े ही चाव से कर रहे हैं; क्योंकि योग साधना करने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत की जरूरत नहीं पड़ती है। यह सिर्फ एक जगह पर बैठकर भी कर सकते हैं।

योग साधना में शारीरिक व्यायाम के तौर पर बहुत सारे आसन आते हैं; जैसे कि ताड़ासन, मत्स्यासन, सूर्य नमस्कार, त्रिकोणासन, भुजंगासन, वज्रासन और बहुत ही ऐसे आसन है जो हर किसी को पता नहीं। साधना करने के लिए आपको मार्केट में बहुत सारी किताबें प्राप्त हो जाएगी, या फिर आप साधना करने के लिए बहुत सारे क्लासेस भी ज्वाइन कर सकते हो। जहां पर योग साधना सिखाने वाले शिक्षक होते हैं। उनके के जरिए आप ज्ञान ले सकते हैं। वैसे देखा जाए तो यह साधना यह हर एक मनुष्य के शरीर पर निर्भर है।

जैसे किसी को कोई बीमारी हो, या किसी को किसी प्रकार का शारीरिक प्रॉब्लम हो, उस अनुसार योग शिक्षक उस मनुष्य को उस बीमारी के इलाज के लिए योग शिक्षक उन्हें उस इलाज के लिए योग साधना सिखाते है।

और अहम बात यह है कि, योग साधना में योगासन करने से मनुष्य की शरीर के भीतर की मांसपेशियां मजबूत होती है। और मनुष्य शरीर के भीतर से तंदुरुस्त होता है। जबकि जिम में एक्सरसाइज करने से मनुष्य की बाहरी बॉडी बनती है। भारत में योग साधना ज्यादातर जो बुजुर्ग वर्ग है वह करते हैं।

योग साधना के लिए ज्यादा टाइम निकालने की जरूरत नहीं पड़ती है। यह साधारण सुबह में करें तो ज्यादा बेहतर रहता है, और यह एक्सरसाइज कोई भी मनुष्य आसानी से कर सकता है। चाहे वह बच्चा हो, नौजवान हो, या बुजुर्ग हो योग साधना से बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज आसानी से कर सकते हैं।

इसीलिए मैं तो सलाह देना चाहता हूं जो लोगों को शारीरिक तंदुरुस्ती चाहिए वह लोग योग साधना ज्यादा से ज्यादा करें।

3. मैदानी खेल से बनेगा शरीर तंदुरुस्त ?

मैदानी खेल ज्यादातर नौजवान बच्चे इसे खेलना पसंद करते हैं। क्योंकि आयु से बड़े लोग रोज की भागदौड़ की जिंदगी में से खेलने के लिए टाइम निकाल नहीं पाते हैं। और बुजुर्ग वर्ग भागदौड़ नहीं कर सकतें। इसीलिए वह लोग इसे देखना ही पसंद करते हैं।

मैदानी खेल नौजवान बच्चे ज्यादातर अपने रुचि के हिसाब से खेलते हैं; जैसे किसी को क्रिकेट पसंद है, किसी को बास्केटबॉल, किसी को फुटबॉल, कोई वॉलीबॉल खेलता है, तो कई लोग को कबड्डी, या कोई टेनिस बैडमिंटन, स्विमिंग ऐसे बहुत सारे मैदानी खेल है। जो लोग इन्हें अपने टाइम के अनुसार खेलते है। मैदानी खेल से मनुष्य के सारे शरीर का व्यायाम होता है।

जैसे भागने से कूदने, से हाथ पैरों की मूवमेंट करने से, बैठना, उठना चलना इत्यादि इससे आदमी का शरीर धीरे-धीरे बढ़ता है। और वह तंदुरुस्त रहता है; मैदानी खेल खेलने से इंसान के भीतर से शारीरिक ग्रोथ होती है। और और इंसान भीतर से खुश रहता है। मैदानी खेल को रोजाना खेलने वाले लोगों की कद काठी नॉर्मल होती है। और वह अंदर से और बाहर से फिट रहते हैं। लेकिन आजकल के स्मार्ट जमाने में टेक्नोलॉजी ने लोगों के दिलों पर राज किया हुआ है। हर कोई बच्चा और नौजवान ज्यादातर मोबाइल में गेम खेलना पसंद करता है।

सोशल मीडिया पर अपना टाइम गवाना पसंद करते है। जिसके कारण वह लोग शारीरिक तौर पर दिन-ब-दिन कमजोर हो रहे हैं। तो आज से इन सभी स्मार्ट टेक्नोलॉजी का उपयोग कम से कम करें; और मैदानी खेल, योग साधना, जिम एक्सरसाइज ज्यादा से ज्यादा करना पसंद करें।

Leave a Comment