चक्कर आना? Chakkar aana?

चक्कर आना?

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है, आपका हमारे फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन की साइट पर जहां पर आज हम आपको चक्कर आना? के बारे में जानकारी देने वाले हैं कि अक्सर लोगों को चक्कर क्यों आते हैं; और चक्कर आने के पीछे किस प्रकार के कारण होते हैं| चक्कर आने को इंग्लिश में लाइट हेडेडनेस कहते हैं जिसके कई प्रकार के कारण होते हैं जिसकी वजह से आप को चक्कर आ सकते हैं|

तो दोस्तों साधारण तौर पर देखा जाए तो चक्कर आना? यह आम बात है, लेकिन इस बात को नजरअंदाज भी नहीं किया जा सकता है; क्योंकि आज के दौर में ज्यादातर लोगों की मौत चक्कर आकर गिरने की वजह से हो रही है, जिसके बारे में हम आप को संक्षिप्त रूप में इस आर्टिकल में जानकारी देने वाले हैं, तो जुड़े रहिए हमारे साथ और हम आगे की जानकारी में देखते हैं| कि चक्कर आना? यानी क्या होता है, या फिर चक्कर आने के पहले किस प्रकार के संकेत इंसान के शरीर को मिलते हैं, या चक्कर आने के बाद क्या करें कैसे बचे इत्यादि सवालों के जवाब हम आपको आज इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले हैं|

चक्कर क्यों आते हैं ? Lightheadedness kyu hota hai ?

दोस्तों इंसान का शरीर अपने आप में एक रहस्य है, इस पर लगातार इस साइंस के साइंटिस्ट स्टडी कर रहे हैं| और वह दिन-ब-दिन शरीर के बारे में अलग-अलग खोज निकालते जा रहे हैं, और उन्हें हर दिन शरीर से एक नया अंग नई खोज प्राप्त हो रही है| ऐसे में चक्कर आना यह एक साधारण क्रिया है जो कि इंसान का शरीर अगर किसी भयंकर बीमारी का शिकार हो, या फिर इंसान के शरीर में किसी चीज की कमी हो जैसे प्रोटींस विटामिंस एनर्जी ग्लूकोज इत्यादि अगर इनमें से किसी एक की भी मात्रा शरीर के नीचे ऊपर नीचे हो जाए तो शरीर में साधारण तौर पर चक्कर आ सकते हैं| या फिर कोई इंसान किसी गंभीर बीमारी का शिकार हो तो उसे भी इस प्रकार के चक्कर आ सकते हैं, मुख्य तो शारीरिक बदलाव होने के वजह से इंसानों को चक्कर आते हैं|

See also  कंधे में दर्द होना? Shoulder pain?

आगे की जानकारी में हम बाकी के कारणों के बारे में जान लेते हैं, कि शरीर में चक्कर क्यों आते हैं किन कारणों की वजह से आते है?

चक्कर आने के कारण? Causes of Lightheadedness ?

चक्कर आने के कई सारे प्रकार के कारण होते हैं, जिसके बारे में हम आपको आगे की जानकारी में बताने वाले हैं| तो आइए चलिए देखते हैं, सबसे पहला कारण क्या है?

एकदम से खड़े होना : Standing Qyuickly :

दोस्तों अगर आप कहीं पर किसी जगह हो काफी समय से बैठे हैं, या फिर काफी समय से सोए हैं, और आप अचानक से खड़े होकर अपने काम करने लगे तो इससे शरीर के भीतर ब्लड सरकुलेशन में बाधा आ सकती है, और आप को चक्कर आ सकते हैं|

डिहाइड्रेशन : Dehydration :

अगर शरीर में पानी की मात्रा कम हो जाए तो इंसानी शरीर में चक्कर आना आम बात है. जैसे कि आपने देखा ही होगा धूप काल में ज्यादा तेज धूप लगने के कारण आपको कभी चक्कर आए हुए होंगे तो उस समय आपके बॉडी में पानी की मात्रा कम होने से आप को चक्कर आ सकते हैं|

अधिक शारीरिक व्यायाम : Over Gym Exercise :

दोस्तों अपने शरीर के कैपेसिटी के बाहर अगर आप व्यायाम करते हैं, तो उस दौरान बॉडी आप को साथ देना छोड़ सकती है क्योंकि इंसान के शरीर की भी एक लिमिट होती है, फिर चाहे वह शारीरिक ताकत की हो, या बौद्धिक क्षमता की हो इनकी एक लिमिट है | अगर आप इस लिमिट को क्रॉस करते हैं, तो शरीर भी आपको साथ देना छोड़ सकता है|

ब्लड प्रेशर : Blood Pressure :

दोस्तों जिस किसी भी इंसान को बीपी की बीमारी हो जैसे कि ब्लड प्रेशर कम ज्यादा हो जाना ऐसे इंसान को साधारण तौर पर हमेशा चक्कर आ सकते हैं|

तनाव और चिंता : Tension & Frustration :

लगातार अगर कोई इंसान काफी चिंता में है, या तनाव में है, तो उसके शरीर में एक नेगेटिव एनर्जी बनने लगती है| और वह एनर्जी इंसान को अंदर से कमजोर बना देती है, जिसके कारण इंसान को चक्कर आ सकते हैं|

See also  आंखों की एलर्जी ? allergy in eyes

विटामिंस की कमी : Vitamin-C Ki kami :

दोस्तों शरीर में विटामिन बी और विटामिन डी और विटामिन सी यह काफी महत्वपूर्ण होते हैं| इन से हमारे शरीर को ग्लूकोज यानी कि एनर्जी मिलती है, अगर इसमें से किसी भी विटामिन की कमी शरीर में होने लगे तो आपको अचानक से चक्कर आ सकते हैं|

आयरन की कमी : Iron ki kami :

अगर शरीर में आयरन जो कि खून में पाया जाता है, उसकी कमी होने लगे तो इंसान दिन-ब-दिन कमजोर होते जाता है, और उसे चक्कर आने की बीमारी हो सकती है|

मिर्गी आना : Mirgi Aana :

दोस्तों कई सारे इंसानों को और बचपन से या कभी ना कभी मिर्गी के दौरे आने की बीमारी लग जाती है| इसमें लगातार चक्कर आना है, यह काफी आम बात होती है| इस बीमारी से बचने के लिए आपको आपके निजी डॉक्टर से सलाह लेनी जरूरी होती है, अगर किसी इंसान को मिर्गी की बीमारी है, और उसे बार-बार चक्कर आ रहे हैं तो वह उसके लिए आम बात होती है लेकिन फिर भी डॉक्टर को दिखाना जरूरी होता है|

कमजोर रोगप्रतिकारक शक्ति : Low immunity power :

अगर किसी इंसान की रोग प्रतिकार शक्ति बहुत ही कम है, तो ऐसे इंसान को नए वातावरण में या अधिक ज्यादा तनाव के कारण चक्कर आ सकते हैं|

माइग्रेन की बीमारी : Migrane illness :

दोस्तों माइग्रेन की बीमारी यह 100 में से 30 या 40 लोगों को होती ही होती है, और यह बीमारी अधिक चिंता और तनाव करने के कारण होती है, इस बीमारी के रहे थे आप को चक्कर आ सकते हैं|

हार्ट अटैक : Heart Attack :

दोस्तों आजकल हार्ट अटैक यह सबसे गंभीर और सबसे ज्यादा चक्कर आने का एक कारण है, काफी लोगों की मौत हार्ट अटैक के कारण हुई है, और हो रही है लेकिन अटैक आने से पहले इंसान को चक्कर आते हैं| और वह चक्कर आने के बाद जमीन पर गिर जाता है, और बाद में उसकी मृत्यु हो जाती है| तो सबसे बड़ा और अधिक खतरनाक कारण यही है|

See also  एसिडिटी का इलाज कैसे करें? Acidity ki Problem?

चक्कर आने पर क्या करें? Chakkar aane par kya kare?

अगर आपको चक्कर आए हैं, तो सबसे पहले आपको एक ही जगह शांत बैठ जाना है और 10 से 15 लंबी और गहरी सांसे धीरे-धीरे शरीर के अंदर और बाहर करते रहना है, इससे आपका शरीर शांत होगा और आपका ब्लड सरकुलेशन यह नॉर्मल होकर सटीक तरीके से आपके शरीर में ब्लड सरकुलेशन करना शुरू कर देगा जिससे आपका शरीर पूरी तरह आपके दिमागी कंट्रोल में आ जाएगा|

  • किसी इंसान को चक्कर आए हैं, तो ऐसे इंसान को चक्कर से बाहर निकालने के लिए उसे प्याज को काटकर सुनाते हैं, या फिर उसे इस्तेमाल किया हुआ मौजा यानी कि सॉक्स की बदबू सुनाते हैं|
  • चक्कर आने के बाद आप नींबू पानी पी सकते हैं जिससे आपके शरीर की शुगर लेवल मेंटेन हो जाएगी और आपके शरीर को ग्लूकोस की कमी नहीं रहेगी|
  • चक्कर आने के बाद शक्कर खाए या फिर किसी मीठी चीज का सेवन करें जो आपके शरीर की शुगर को बढ़ा देता है और आपको एनर्जी देता है|
  • चक्कर आने के बाद एक जगह शांत बैठ जाए किसी भी प्रकार की क्रिया को ना करें अपने दिमाग को शांत रखें|
  • चक्कर आने के बाद थोड़ा पानी पिए|
  • चक्कर आने के बाद या चक्कर रोकने के लिए अदरक की चाय का सेवन करें|
  • चक्कर से बचने के लिए आंवले का सेवन करें या आंवले का जूस बनाकर रखें और उसे रोजाना पिए|
  • चक्कर आना रोकने के लिए पौष्टिक आहार का सेवन रोजाना करें|
  • चक्कर आना रोकने के लिए या फिर चक्कर आने के बाद अपने निजी डॉक्टर से चेकअप करवाएं और डॉक्टर की सलाह अनुसार दवाइयों का इस्तेमाल करें|

तो दोस्तों इत्यादि उपाय आप घर पर ही कर सकते हैं और चक्कर आने से बच सकते हैं, तो आज का हमारा यह विषय चक्कर आना? के बारे में था और हमने आपको ज्यादा से ज्यादा सटीक जानकारी देने का प्रयास किया है, अधिक जानकारी के लिए आप आपचकककरचकी निजी डॉक्टर से आपका चेकअप करवाएं और डॉक्टर की सलाह अनुसार दवाइयों का इस्तेमाल करें|

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top