Saturday, July 2, 2022

गले में इन्फेक्शन ? Throat infection

जरुर पढ़े

नमस्कार दोस्तों स्वागत है, आपका हमारे फ्री सिंपलीफाइड वेबसाइट पर आज का हमारा विषय है गले में इंफेक्शन? दोस्तों जब हम इंसान बात करते हैं, तो उस वक्त हमारा गला हमें हमारी आवाज जनरेट करने के लिए मदद करता है | गला यह बातचीत करने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है साथ ही साथ हम जो भी भोजन सेवन करते हैं वह हमारे गले के जरिए ही हमारे पेट तक पहुंच पाता है, इसीलिए गले को तंदुरुस्त रखना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है |

दोस्तों हम आज गले में इन्फेक्शन क्यों होता है, या गले में इंफेक्शन होने के बाद उसके परिणाम किस प्रकार से इंसान को झेलने पड़ते हैं, इसके बारे में बताने वाले हैं, और साथ ही साथ अगर आपको किसी प्रकार का गले का इन्फेक्शन यानी कि थ्रोट इनफेक्शन हुआ है | तो हम उस पर आपको सटीक उपाय बताने वाले हैं, जिसको आजमा कर आप अपने गले के इन्फेक्शन को दूर कर सकते हैं। तो आइए आगे की जानकारी में जानते हैं गले में इन्फेक्शन क्यों होता है?

गले में इन्फेक्शन क्यों होता है ? gale me infections kyo hota hai ?

दोस्तों गले में इंफेक्शन होना यह एक साधारण बात है, गले में आमतौर पर इंफेक्शन यह मौसम बदलने के कारण होता है | और अलग-अलग तरह के पदार्थ खाने के वजह से या फिर ठंडा गरम या केमिकल युक्त ड्रिंक पीने से भी होता है, जिसके बारे में हम आपको आगे की जानकारी में गहराई से बताने वाले हैं। जैसे कि इन दिनों अचानक धूप आती है, तो अचानक अगले दिन बरसात होकर ठंड आ जाती है | ऐसे में इंसानी शरीर को उस मौसम में एडजस्ट करने के लिए कुछ समय लगता है, और एडजस्ट करते वक्त इंसान के शरीर पर तरह-तरह के परिणाम दिखते हैं जैसे की खांसी जुकाम बदन दर्द या फिर गले में खराश तो यह आम बात होती है।

और दूसरी बात यह होती है, कि ठंडा या गर्म गोल्ड रिंग पीने से गले में उसकी एलर्जी हो सकती है या फिर किसी प्रकार का खराब भोजन आपने सेवन किया हो तो उसका साइड इफेक्ट आपको गले में इंफेक्शन होने के जरिए भी हो सकता है। अगर आपको किसी प्रकार की बीमारी हो जो गले से संबंध में हो तो वह गले के इन्फेक्शन से शुरुआत करती है, तो ऐसे में आपने अपने निजी डॉक्टर को दिखा कर उसकी सटीक जांच करनी आवश्यक होती है।

गले में इन्फेक्शन होने के परिणाम : Gale me infection ke parinam:

दोस्तों गले में इंफेक्शन? होने के बाद उसके परिणाम किस प्रकार से हमारे शरीर पर होते हैं, उसके बारे में हम आपको आगे में बताने वाले हैं कि आपको किन किन मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है या फिर गले में इंफेक्शन का परिणाम किस प्रकार से गले में होता है, इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।

  • गले में खराश होना |
  • गले में दर्द होना या किसी चीज को निगलने में कठिनाई होना |
  • गले में सूजन आना |
  • गले के अंदर से खून का बहाव होना |
  • गले के साथ-साथ मुंह में छाले हो जाना |
  • बात करते वक्त गले में दर्द होना |
  • पानी पीते वक्त या खाना खाते वक्त गले में कांटे जैसे चुभना |
  • गला बैठ जाना जैसे कि बोलते वक्त आवाज भारी हो जाना |
  • गले में जलन होना |

थ्रोट इनफेक्शन पर उपाय : throat infection pr upay:

दोस्तों सबसे पहले अगर आपके गले में इंफेक्शन होता है, और वह अगर 3 या 4 दिन से अधिक रहता है | तो आप अपने निजी डॉक्टर से उसकी जांच करवाएं क्योंकि आमतौर पर होने वाला इंफेक्शन है यह 4 या 5 दिनों के ऊपर नहीं रहता है, अगर किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो तो गले का इन्फेक्शन यह ज्यादा दिनों तक आपको परेशान कर सकता है।

अगर आपको गले में इन्फेक्शन? हुआ है, तो सबसे पहले गले को गर्म पानी में नमक मिलाकर उसकी कुल्ला यानी कि गरारे करना है, ऐसा करने से परिणाम स्वरूप आपके गले में गर्म पानी के वजह से गले की सिकुड़ी हुई मांसपेशियां लचीली हो जाती है | और गले को सूजन से राहत मिलती है। और नमक में एंटीबैक्टीरियल गुण होता है, जिसकी वजह से किसी प्रकार का बैक्टीरियल इन्फेक्शन हो तो वह तुरंत खत्म हो जाता है।

अदरक नींबू और शहद से गले की खराश दूर : Ginger,lemon & honey:

दोस्तों आपको अदरक नींबू और शहद को मिलाकर यानी कि उसका मिश्रण बनाकर उसे गर्म पानी में घोलना है, और वह गर्म पानी मुंह में लेकर उसी से कुल्ला करना है | इससे आपके गले को तुरंत राहत मिल सकती है, और साथ ही साथ खांसी जुकाम जैसी परेशानी से भी आपको जल्द ही छुटकारा मिल सकता है।

गरम पानी और हल्दी के इस्तेमाल : Hot water & Turmeric powder:

पानी को गर्म करने के बाद उसमें हल्दी मिलाकर उसके गरारे करने पर आपके गले के इन्फेक्शन से छुटकारा मिलेगा, या फिर पानी में हल्दी का सेवन ज्यादा करें जिससे आपको शरीर के भीतर से काम करेगी जिसमें एंटीबैक्टीरियल गुन होते हैं।

दूध और हल्दी से करें गले की खराश दूर : Milk & Turmeric powder:

दोस्तों दूध और हल्दी को मिलाकर आप अगर पीते हो तो उसी से आपके गले को जल्द ही राहत मिलती है, क्योंकि दूध में और हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं | जो पुरानी खांसी या बीमारी को दूर करने में मदद करती है, और दूध की मलाई के वजह से गले की भीतर की त्वचा को राहत मिलती है जिससे वह मुलायम होती है, और जल्द ही गले की खराश दूर कर देती |

गले की खराश के लिए लहसुन का रस : Garlic juice for throat pain:

दोस्तों लहसुन और शहद को मिलाकर उसका रस बना ले और उसमें थोड़ा पानी मिक्स करके उसका एक चम्मच अगर आप दिन में दो बार पीते हो तो इससे आपके गले का दर्द जल्द ही खत्म होने में मदद होती है। लहसुन में शहद इसीलिए मिक्स करना है, क्योंकि अगर आप सिर्फ लहसुन खाएंगे या उसका रस पिएंगे तो आपके मुंह से अधिक बदबू आएगी और ज्यादा लहसुन के सेवन से आपको एसिडिटी होने का भी खतरा होता है, इसीलिए उस में शहद मिलाकर पीने से आपको ज्यादा परेशानी नहीं होगी |

गले में इन्फेक्शन होने के लिए क्या करें ? Precaution for throat:

दोस्तों गले में इंफेक्शन होने के लिए बचने के लिए सबसे पहले अगर आप रोजाना सुबह उठने के बाद गर्म पानी पीते हैं | या गर्म पानी से गरारे करते हैं तो उसी से आपका गला रोजाना तरोताजा रहेगा, और साथ ही साथ आप योग क्रिया एक कर के भी गले को तंदुरुस्त रख सकते हैं। रोजाना आपने खाने में अदरक लहसुन और नींबू का इस्तेमाल करें जिससे आपके गले में किसी प्रकार का इन्फेक्शन ना हो क्योंकि लहसुन अदरक और नींबू में एंटीऑक्सीडेंट एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक नामक कौन होते हैं, जो किसी भी प्रकार के बैक्टीरियल इनफेक्शन को होने नहीं देता है। गले को तंदुरुस्त रखने के लिए और आपकी आवाज और भी मधुर करने के लिए गले के योगासन करें।

अगर आप को गले को तंदुरुस्त रखने के लिए किस प्रकार के योगासन करते हैं यह जानकारी नहीं है तो जुड़े रहे हमारे फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन की वेबसाइट पर जहां पर हम रोजाना आपके लिए नए नए तरह के आर्टिकल लेकर आते हैं, जिनमें गले को तंदुरुस्त रखने के लिए इस प्रकार के योग क्रियाएं करें इसके बारे में भी हमने बताया हुआ है। धन्यवाद।

 

 

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

error: Content is protected !!