Saturday, December 10, 2022

क्या होता है जब हम सोते हैं?

जरुर पढ़े

नमस्कार दोस्तों, सवाल पढ़ कर उड़ गए ना होश? कभी सोचा है क्या होता है जब हम सोते हैं? इंसान हो या जानवर हमारे ग्रह पर जिस जगह पर रात होती है, उस जगह के लगभग सभी इंसान और जानवर सो जाते हैं। और रात के नींद का मतलब हम लगभग बेहोशी की स्थिति में प्रवेश करते हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं? जब हम सोते हैं तो शरीर के अंदर वास्तव में क्या हो रहा है, और अगर हम पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं तो इसका हमारे शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है?

नींद के लिए कौन सा हार्मोन जिम्मेदार है?

नींद आपके मस्तिष्क में स्थित बॉडी क्लॉक द्वारा नियंत्रित होती है। इसे हम सर्कैडियन रिदम भी कहते है। शरीर की बनावट रात में हार्मोन मेलाटोनिन के उत्पादन को तेज करने के प्रयास के प्रति प्रतिक्रिया करती है, और जब यह नींद खुलना महसूस करते है तो इसे बंद कर देती है।

जब हम सोते हैं तब नींद कितने चरण के होते हैं?

नींद के चार चरण होते हैं। इन चरणों को शरीर रात भर चक्रों में अनुभव करता है। एक शुभ रात्रि में, हम इन चरणों से चार से पांच बार गुजरते हैं।

पहले और दूसरे चरण में हमें हल्की नींद आने लगती है। यह दोनों चरण हमें जागृत अवस्था से नींद में जाने तक मदद करते हैं। पहले दो चरणों में हमारे हृदय की गति धीमी होने लगती है, साथ ही में हमारी सांसे भी थी में होने लगती है। और हमारी मांसपेशियां सिकुड़ने के साथ हमारे शरीर का तापमान भी नीचे गिरने लगता है।

हमारे नींद के तीसरे चरण में हम काफी गहरी नींद में चले जाते हैं। इस चरण को आप गहरी नींद का पहला चरण भी कह सकते हैं। हमारे नींद के तीसरे चरण में हमारा शरीर हमारे मांसपेशियों को कोशिकाओं को और हड्डियों को जरूरी हार्मोन की वृद्धि करता है। एक तरीके से हमारा शरीर तीसरे चरण में खुद को ठीक करता है।

सबसे आखरी और हमारे नींद का चौथा चरण बहुत ही सुखद होता है। चौथे चरण में हमारा शरीर ऐसे रसायन बनाता है जिससे हम इस चरण के दौरान अस्थायी रूप से लकवाग्रस्त होते हैं। इस चरण में हम सपने देखना शुरू करते हैं। चौथे चरण में हमारा शरीर पूर्णताः निष्क्रिय होता है परंतु हमारा मस्तिष्क अत्यंत सक्रिय होता है। चौथे चरण में हम बीते हुए दिन की यादों को सही तरीके से संजोते हैं, और उन्हें आने वाले कल के लिए तैयार करते हैं।

हमारी नींद के यह चार चरण होते हैं। किसी आहट से या किसी भी वजह से हमारे नींद खुलती है, तो हम फिर से इन्हीं चार चरणों से गुजरते हैं। एक रात में हम इन चार चरणों से ४ से ५ बार गुजरते हैं।

कौन सा फल खाने से नींद अच्छी आती है?

जिन फलों में ट्रिप्टोफैन मौजूद होता है, वह फल खाने से हमें अच्छी नींद आती है। हमारे रोजमर्रा की जिंदगी में केला एक ऐसा फल है जिसमें ट्रिप्टोफैन काफ़ी मात्रा में मौजूद होता है। रोज रात को सोने से १ घंटे पहले अगर हम एक केले का सेवन करते हैं। तो हमें काफ़ी अच्छी नींद आती है।

सोने से पहले अगर हम १ छोटी चम्मच शहद का सेवन करते हैं तो यह शहर हमारे ऑरेक्सीन रिसेप्टर को शांत करने में मदद करता है। इस वजह से भी हमें काफ़ी अच्छी नींद आती है।

अगर हम अपने रोज के नींद का हिसाब लगाएं, तो हर व्यक्ति अपने जीवन का एक तिहाई हिस्सा सोते हुए व्यतीत करता है। इस सदी में हमारी जीवन शैली काफी आधुनिक हो चुकी है परंतु साथ में हमें काफी सारा तनाव भी झेलना पड़ता है। अगर हम आज की हमारी नींद के तरीके को 100 साल पुराने नींद के तरीके से जोड़ कर देखेंगे तो हम उस मुकाबले बहुत ही कम सोते हैं। जिस वजह से आज के हमारे शरीर को काफी सारी बीमारियां झेलनी पड़ती है।

क्या होता है जब हम सोते हैं?
क्या होता है जब हम सोते हैं?

१०० साल पहले तक प्रतिदिन ७ घंटे की नींद योग्य होती थी। परंतु आज के समय में हमें कम से कम ९ से ११ घंटे सोने की आवश्यकता है।

तो एक स्वस्थ और लंबे जीवन के लिए आपको आपकी नींद में वृद्धि करनी जरूरी है। और हमें जरूर बताइए कैसी लगी आपको यह जानकारी।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article