Friday, December 9, 2022

बाल दिवस कब मनाया जाता है? Children’s Day

जरुर पढ़े

नमस्कार दोस्तों स्वागत है,आपका हमारे फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन की वेबसाइट पर और आज का हमारा विषय है, बाल दिवस कब मनाया जाता है? दोस्तों आप सभी को पता होगा हमारा भारत देश यह 15 अगस्त 1947 में स्वतंत्र यानी आजाद हुआ था। यानी कि इस दिन अंग्रेज भारत छोड़कर चले गए थे या फिर ऐसा भी कह सकते हैं,कि देश को चलाने का कार्यभार अंग्रेजों ने भारतीय नेताओं के स्वाधीन कर दिया था। तो यह आजादी हमें काफी लड़ाई करने के बाद मिली और इस आजादी को पाने के लिए हमारे देश के कई लोगों ने अपनी जान की बाजी लगा दी। जिसमें बच्चों से लेकर जवानों से लेकर बूढ़ों तक लोग रास्ते पर आकर अपनी जान गवा बैठे थे।

तो ऐसे में हमारे बहुत सारे नेताओं ने या फिर स्वतंत्र सेनानियों ने जैसे कि भगत सिंह, राजगुरु लाल बहादुर शास्त्री लाला लाजपत राय बाल गंगाधर तिलक सुभाष चंद्र बोस, बाबासाहेब आंबेडकर, स्वामी विवेकानंद, शिरीष कुमार इत्यादि और कई सारे ऐसे हमारे स्वतंत्र सेनानी थे जिन्होंने अपनी पूरी जिंदगी आजादी पाने के लिए लगा दी थी यह लोग दिन-रात सिर्फ देश के आजादी के लिए काम करते थे।

तो दोस्तों साथ ही साथ हमारे देश के कुछ नेता भी थे जैसे कि सरदार वल्लभभाई पटेल, बाबा साहब अंबेडकर और पंडित जवाहरलाल नेहरू इत्यादि और कई सारे नेताओं ने अपनी काबिलियत, अपना जुनून कड़ी मेहनत के साथ देश की आजादी में देश को चलाने में लगा दी। तो दोस्तों हमारे भारत में हम हर एक स्वतंत्र सेनानी यानी कि जिन लोगों ने आजादी पाने के लिए अपनी जान की बाजी लगा दी है, ऐसे लोगों के जन्मदिन पर हम किसी ना किसी प्रकार के दिवस मनाते हैं। तो ठीक उसी प्रकार आज हम बाल दिवस कब मनाया जाता है? इसके बारे में जानकारी लेने वाले हैं, तो दोस्तों आइए आगे की जानकारी में हम बाल दिवस के बारे में जानकारी लेते हैं जिससे आपको बाल दिवस कब मनाया जाता हैं? बाल दिवस क्यों मनाते हैं? बाल दिवस कैसे मनाते हैं?ऐसे सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

बाल दिवस कब मनाया जाता है? Bal Divas Kab Manaya Jata hai :

जैसे कि हमने ऊपर की जानकारी में आपको बताया कि पंडित जवाहरलाल नेहरू जैसे अन्य नेताओं देख काफी मेहनत और लगन से अपने देश को चलाने का कार्यभार की जिम्मेवारी अपने कंधे पर लेकर हमारे देश को किस प्रकार से चलाया जा सकता है, इसके बारे में लोगों के भीतर जागरूकता फैलाई जिनकी बदौलत आज हम सही तरीके से सही ढंग से देश चला रहे हैं,और हमारा देश दिन-ब-दिन तरक्की करते जा रहा है। तो ऐसे देश के सबसे पहले पंतप्रधान यानी कि प्राइम मिनिस्टर यह पंडित जवाहरलाल नेहरु है, जिनके जन्मदिन पर बाल दिवस मनाते हैं। यानी कि 14 नवंबर को बाल दिवस मनाते हैं और 14 नवंबर यह पंडित जवाहरलाल नेहरू जी का जन्मदिन है।

दोस्तों पंडित जवाहरलाल नेहरु जी बच्चों को काफी प्यार करते थे उनका यही मानना था कि आप अगर आपके बच्चों के दिलो में देश के प्रति प्यार पैदा करते हैं। उन्हें देश के बारे में ज्ञान देते हैं, तो वह आगे जाकर देश के लिए बड़े से बड़ा काम करने के लिए तैयार होते हैं। और वह उस तरह का काम कर कर दिखाते हैं, जिसकी वजह से देश का नाम पूरे दुनिया में ऊंचा होता है। पंडित जवाहरलाल नेहरु जी यह कहते थे कि आज के बच्चे कल के देश का भविष्य है। और ठीक उसी प्रकार भी हो रहा है जो लोग बच्चे होते हैं वह बड़े होकर बड़ा कार्य करके अपने देश का नाम ऊंचा करते हैं। तो इस दिन काफी उत्साह में बाल दिवस मनाया जाता है। हमारे देश के कई विभागों में अलग अलग तरीके से बाल दिवस मनाते हैं, जिसके बारे में हम आपको आगे की जानकारी में बताने वाले है ।

बाल दिवस का महत्व? Bal Divas ka Mahtva :

दोस्तों बाल दिवस का महत्व यही है, कि वह दिन बच्चों के लिए होता है उस दिन बच्चों के द्वारा कई प्रकार के कार्यक्रम किए जाते हैं,और बच्चों को प्रोत्साहित किया जाता है। 14 नवंबर यह पंडित जवाहरलाल नेहरु जी का जन्म दिन है उस दिन पर बाल दिवस को मनाया जाता है और बाल दिवस मनाया जाने के पीछे का यही उद्देश्य की बच्चों के दिलों में देश के प्रति प्यार इज्जत पैदा करना होता है, ताकि आगे जाकर वह बच्चे अपने देश के लिए कुछ बड़ा काम कर पाए और अपने देश का और अपने मां-बाप का नाम ऊंचा कर सके।

बाल दिवस पर हमारे देश के राष्ट्रपति यह बच्चों को प्रोत्साहित करते हैं, बच्चों का उत्साह बढ़ाते हैं। बच्चों को अपने देश के बारे में जानकारी देते हैं,कि किस तरह से हमारा देश आजाद हुआ उसके बाद कैसे देश का कार्यभार संभाला गया इन लोगों ने इस कार्यभार को बड़ी बखूबी से संभाला और आने वाली आगे की पीढ़ी को देश चलाने की वह तकनीक उन लोगों ने सिखाई ठीक उसी प्रकार राष्ट्रपति जी बच्चों को भी वही सिखाते हैं कि देश को कैसे चलाया जाता है देश की सरकार को किस तरह से बरकरार रखा जाता है। साथ ही साथ राष्ट्रपति जी यह भी सिखाते हैं कि हमारे देश की रक्षा किस प्रकार से की जाती है हमारे देश की रक्षा करने वाले कौन लोग होते हैं, वह किस प्रकार से किन-किन हालातों में अपना जीवन व्यतीत करते हैं, ताकि अपना देश सुरक्षित रह सके कैसे अपने शत्रुओं पर बात कर सके। राष्ट्रपति जी के साथ-साथ हमारे देश के सभी स्कूलों कॉलेजों में रंगारंग कार्यक्रम लेकर यह जानकारी दी जाती है। तो आइए आगे की जानकारी में देखते हैं,कि बाल दिवस कैसे मनाते हैं।

बाल दिवस कैसे मनाते हैं? Children’s Day Celebration :

दोस्तों जैसे कि बाल दिवस कब मनाया जाता है।और बाल दिवस मनाने के पीछे का उद्देश्य क्या होता है,उसके बारे में हमने जानकारी दी है ठीक उसी प्रकार अभी हम आपको बाल दिवस कैसे मनाते हैं, उसके बारे में जानकारी देने वाले हैं। हमारे देश में हर कोने कोने में बाल दिवस मनाया जाता है फिर चाहे वह छोटी से छोटी स्कूल से लेकर बड़े से बड़े कॉलेज ही क्यों ना हो। इस दिन पर कई प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन करके बाल दिवस को मनाया जाता है, जैसे कि;

  • बाल दिवस के दिन रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है जिसमें कई सारे बच्चे वह भाग लेकर अपने भीतर की खूबी दिखाते हैं, जैसे कि नाट्य,कविता,संभाषण,नृत्य इत्यादि खूबी बच्चे स्टेज पर जाकर दिखाते हैं।
  • 14 नवंबर बाल दिवस के दिन कई स्कूल बच्चों का मोर्चा निकालते हैं यानी कि उसने बच्चे अपनी आजादी के दिनों की तस्वीरें अपने हाथों में लेकर अपने देश का तिरंगा हाथों में लेकर हर गली मोहल्ले से गुजरते हैं,और घोषणाएं देते हैं, जैसे कि भारत माता की जय और लोगों को अपने देश की आजादी के वक्त का एहसास दिलाते हैं,और उन दिनों के हालातों के बारे में यादें महसूस करवाते है।
  • बच्चों को एक जगह इकट्ठा करके उन्हें प्रोत्साहित किया जाता है,जिनमें वरिष्ठ और अनुभवी नेता या अभिनेता यह फिर पुलिस ऑफिसर, आर्मी ऑफिसर स्कूलों में विजिट करता है। और उनके संभाषण के दौरान बच्चों को प्रोत्साहन देते हैं कि किस प्रकार से जीवन जीना चाहिए जो अपने देश के काम आ सके और अपने वयक्तिक निजी जीवन में भी काम आ सके।
  • आजादी के दौरान का किसी भी प्रकार की घटना का नित्य स्वरूप लोगों के सामने पेश करते हैं। जैसे कि गांधी जी द्वारा की गई दांडी मार्च हो या फिर भगत सिंह जैसे वीर योद्धा ओके जीवन पर आधारित कथा हो इनके बारे में बच्चे नाटक का आयोजन करते हैं,और वह बाल दिवस को प्रदर्शित करते हैं।
  • बाल दिवस पर स्कूलों द्वारा बच्चों को गिफ्ट दिया जाता है।
  • बाल दिवस पर चाचा नेहरू यानी कि पंडित जवाहरलाल नेहरू जी को आदरांजली दी जाती है।
  • बाल दिवस पर स्कूलों में खेल कूद का आयोजन किया जाता है।

और कई सारे तरीकों से बाल दिवस हमारे देश में मनाया जाता है जिसका असर हमारे बच्चों पर होता है, और वह हमारे देश के प्रति और भी प्यार करने लगते हैं। जिससे आगे चलकर वह लोग देश के लिए बड़े से बड़ा काम करके दुनिया में देश का नाम ऊंचा करने में सफल होते हैं।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article