हड्डियों की मजबूती? Strong Bones?

हड्डीयों की मजबूती?

नमस्कार दोस्तों स्वागत है, आपका हमारे फ्री सिम्प्लिफाइड इनफार्मेशन की साइट पर और आज का हमारा विषय है| हड्डियों की मजबूती? आज हम हड्डियों की मजबूती के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं; जैसे की हड्डियां किस प्रकार से मजबूत होती है, किन कारणों की वजह से हड्डियों में परेशानियां आने लगती है, किन कारणों की वजह से हड्डियां कमजोर होने लगती है, इन सभी सवालों के जवाब और सटीक जानकारी हम आज इस आर्टिकल में देने वाले हैं,तो आइए चलिए जान लेते हैं हड्डियों की मजबूती? के बारे में|

हड्डियों के बारे में जानकारी : Bones Information :

दोस्तों इंसान के पूरे शरीर में टोटल 206 हड्डियां होती है| जिनमें मुख्य हड्डियां आती है skull यानी की खोपड़ी, स्पाइन यानी कि पीठ की रीड की हड्डी, चेस्ट यानी कि सीने की हड्डी, आर्म यानी कि कंधे और हाथों की हड्डियां, pelvis यानी कि यह इंसान के पिछवाड़े में रहने वाली हड्डियां जो कि पैरों को जोड़े रखने में मदद करती है, लेग्स यानी पैर तो दोस्तों यह मुख्य हड्डियां होती है; जो कि किसी भी इंसान को आसानी से बाहरी तौर से दिखाई देती है, और वह हाथ लगाकर महसूस कर सकता है लेकिन इन सभी बड़े से बड़े हड्डियों को जोड़कर रखने के लिए कई सारे छोटे-छोटे टुकड़ों में हड्डियों का इस्तेमाल यहां पर होता है| जो कि आप बाहरी तौर से देख नहीं पाते हैं लेकिन असलियत में वह हड्डियां बड़े से बड़े अंग को अपने शरीर से जोड़े रखती है| बोन स्टडी को यानी की हड्डियों के अभ्यास को ओस्टियोलॉजी कहा जाता है| इंसान के शरीर में हड्डियों से जुड़े किसी भी प्रकार के परेशानी को ओस्टियोलॉजी अभ्यास के आधार पर ठीक किया जाता है| इस ओस्टियोलॉजी केस स्टडी में कई सारे एक्सपोर्ट्स काफी पढ़ाई और काफी रिसर्च करने के बाद एक ओस्टियोलॉजी डॉक्टर की डिग्री लेते हैं, और वह इंसानों की मदद करने के लिए उनके काबिलियत की मदद से वह ओस्टियोलॉजी के अनुसार इंसानी हड्डियों को मजबूत तंदुरुस्त रखने में मदद कर पाते हैं|

दोस्तों जैसे कि एक नवजात शिशु के अंग में एक आम आदमी के बराबरी में ज्यादा हड्डियां होती है; क्योंकि वह नवजात बालक होता है, उसकी हड्डियां पूरी तरह से जुड़ी हुई नहीं होती है, जैसे जैसे वह उम्र के हिसाब से बढ़ता जाता है उसकी हड्डियों का जुड़ाव और भी सख्त होने लगता है और कुल मिलाकर 206 हड्डियों से उसका शरीर का स्केलेटन तैयार हो जाता है| और जैसे कि नवजात शिशु की हड्डियां काफी लचीली होती है, उनको किसी भी दिशा में आप मारते हो तो वह आसानी से मुड़ जाती है, लेकिन ऐसा बड़े लोगों में नहीं होता है| अगर आप ऐसी क्रिया करने जाओगे तो ऐसे में आप की हड्डी या तो टूट जाएगी या फिर हड्डियों में दरार आ जाएगी और आप की हड्डी फ्रैक्चर हो जाएगी| जैसे जैसे इंसान की उम्र बढ़ती जाती है, उनकी हड्डियों की मजबूती यह कम होने लगती है, हड्डियां कमजोर होने लगती है, तो ऐसे में इंसानों को ओस्टियोपोरोसिस नाम की बीमारी होने लगती है| जो कि बढ़ती उम्र में काफी आम बीमारी होती है, और इंसान के शरीर के सभी अंग सभी जॉइंट धीरे धीरे दुखने लगते हैं, या फिर किसी गंभीर बीमारी का रूप लेने लगते हैं|

See also  एसिडिटी का इलाज कैसे करें? Acidity ki Problem?

हड्डिया मजबूत करने के लिए क्या खाएं? Food for Strong Bones?

  • हड्डियां मजबूत रखने के लिए आपको आपके भोजन में पौष्टिक आहार की मात्रा अधिक रखनी जरूरी होती है| जिसके वजह से आपके शरीर के साथ-साथ आपके हड्डियों की भी विटामिन मिलते हैं, और विटामिंस के वजह से ही हड्डियां और भी मजबूत होने में मदद मिलती है|
    हड्डियां मजबूत करने के लिए रोजाना आप दूध पी सकते हैं, जिससे आपकी हड्डियों को मजबूत होने में मदद मिलती है|
  • रोजाना एक सेब का सेवन आपको हमेशा तंदुरुस्त बनाए रखता है, जैसे कि आप सभी को पता है, की रोजाना एक सेब खाने से आपको किसी भी बीमारी की परेशानी नहीं होती है|
  • हड्डियां मजबूत करने के लिए आलूबुखारा और पाइनएप्पल का सेवन आप रोजाना कर सकते हैं, इनमें बोरान और कॉपर पाया जाता है और पॉलीफेनॉल होते हैं, जो हड्डियों को मजबूत और तंदुरुस्त रखने में मदद करते हैं| और पाइनएप्पल यह ऑस्टियोपोरोसिस नाम की बीमारी को दूर करने में मदद करती है|
  • हड्डियों को मजबूत करने के लिए आप ड्राई फ्रूट्स खा सकते हैं, जिसमें काजू बादाम आंवला अक्रोड किशमिश इत्यादि पदार्थ आते हैं, जिसका रोजाना सेवन करने से आप आपके शरीर को भरपूर प्रोटीन दे सकते हैं और आपकी हड्डियों को मजबूत करने में मदद होती है|
  • हरी-भरी सब्जियां खाने से हड्डियों को सभी प्रकार के विटामिन मिलते हैं, हड्डियों को मजबूत करने के लिए विटामिन डी काफी महत्वपूर्ण होता है, और वह हरी हरी सब्जियां खाने से ही ज्यादातर मिलता है, और हरी-भरी सब्जियां खाने की वजह से आपको जोड़ों का दर्द से भी राहत मिलती है| हरी हरी सब्जियों में ज्यादातर धनिया मेथी पालक यह मुख्य सब्जियां होती है|
  • हड्डियां मजबूत करने के लिए आप फिश खा सकते हैं, या नॉनवेज में किसी भी प्रकार का भोजन कर सकते हैं, लेकिन यह निश्चित करें कि इसकी मात्रा लिमिट में हो अगर आप अधिक मात्रा में नॉनवेज खाते रहते हैं, तो इसका भी आपके शरीर को साइड इफेक्ट झेलना पड़ता है|
  • नारियल के तेल का सेवन आपके शरीर के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है, यह आपके शरीर के लिए एक रामबाण उपाय है जिसमें विटामिन डी जे भर भर के होता है; क्योंकि विटामिन डी यह समुद्र के तट पर ज्यादातर मिलता है, क्योंकि वहां पर तेज धूप होती है, और नारियल समुद्र के तट पर ही पाया जाता है; इसीलिए इसमें विटामिन डी की काफी मात्रा होती है, और इसके ऑयल से आप आपकी हड्डियों मजबूत सकते हैं|
See also  चक्कर आना? Chakkar aana?

हड्डियों को मजबूत करने के लिए योगासन : Yogasan For Bones :

दोस्तों योग यह एक ऐसा रामबाण उपाय है, जो इंसान के शरीर का बैलेंस बनाए रखने में काफी मदद करता है| ठीक उसी प्रकार योगासन में या फिर योगाभ्यास में ऐसे कई प्रकार के योग है, जो आपके शरीर के हड्डियों को मजबूत करने के लिए काफी असरदार तरीके से उपाय करते हैं| जिसमें सबसे पहले आता है;

सूर्य नमस्कार योग आसन : Surya-Namskar :

सूर्य नमस्कार योग आसन यह 12 टिप्स में किया जाने वाला आसन है, जिसमें आपके शरीर के 206 हड्डियों में तनाव आता है, और 206 हड्डियों में मोमेंट होता है| जिसके वजह से हर एक छोटी से छोटी लेकर बड़े से बड़े हड्डी की सही तरीके से एक्सरसाइज होती है, और उन्हें मजबूत होने में मदद मिलती है| यह एक ऐसा आसान है जो सिर्फ यह आसन करके आप शरीर की 206 हड्डियों को मजबूत कर सकते हैं| बाकी आपको कई प्रकार के अलग-अलग आसान है यह हर एक अलग तरह के अंग की हड्डियों को मजबूत करने के लिए दिए गए हैं, जैसे कि;

  • धनुरासन जो की रीड की हड्डी को मजबूत करने के लिए किया जाने वाला आसान है, साथ ही साथ गर्दन से जुड़ी हड्डियां भी इसमें मजबूत होती है|
  • ताड़ासन यह आपके पैर की हड्डी से लेकर गर्दन की हड्डी त्यागी और हाथों की हड्डियों तक किया जाने वाला आसन है इसमें आपकी हाथ पैर और रीड की हड्डी मजबूत करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है|
  • नौकासन यह आपके कमर की हड्डी और पैरों की हड्डियों को मजबूत करने के लिए किया जाने वाला आसन है|
  • बटरफ्लाई आसन यह पैरों के हड्डियों के जोड़ों को ठीक करने के लिए किया जाने वाला आसन होता है|
See also  पित्त के बारे में जानकारी? Pitta ki Jankari?

तो दोस्तों ऐसे कई प्रकार के योग आसन के बारे में हम आपको आगे के बारे में बताने वाले हैं, जिसमें आपको हर एक आसन के बारे में संक्षिप्त रूप में जानकारी देने वाले हैं; कि कौन सा आसन किस बीमारी के लिए या किस प्रकार के लिए आप इस्तेमाल कर सकते हैं| और उसका फायदा आप उठा सकते हैं, तो जुड़े रहे फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन की वेबसाइट से जहां पर आपको एक बेहतरीन जीवन जीने के लिए किस प्रकार से घरेलू उपाय आजमाकर एक तंदुरुस्त जीवनशैली प्राप्त करने में मदद मिलेगी| और आप स्वस्थ तरीके से निरोगी रहे कर अपने जीवन का भरपूर आनंद उठा सकते हैं| धन्यवाद|

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top