Saturday, July 2, 2022

मोच आना? Cramp Aane par kya kre?

जरुर पढ़े

नमस्कार दोस्तों स्वागत है, आपका हमारे फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन की वेबसाइट पर और आज का हमारा विषय है; मोच आना? के बारे में, दोस्तों आपने कभी ना कभी किसी ना किसी से यह सुना ही होगा कि मेरे गर्दन में मोच आ गई, या फिर मेरे पांव में, या फिर मेरे कंधे में मोच आई तो इसका मतलब क्या होता है| इसके बारे में हम आपको जानकारी देने वाले हैं; जिससे आपको मोच आना? क्या होता है इसके बारे में गहराई से जान पाएंगे| दोस्तों मोच आना यानी कि शरीर के किसी भी अंग में नसों के खिंचाव अट होकर उस जगह की मांसपेशियों में तनाव महसूस करना होता है| अब मोच कैसे आती है या फिर मोच आने के बाद किस प्रकार से उसका घरेलू उपाय आजमाकर इलाज कर सकते हैं इसके बारे में भी हम आपको जानकारी देने वाले हैं तो आइए सबसे पहले जान लेते हैं कि, मोच कैसे आती है ?

मोच कैसे आती है? Cramp kaise aata hai?

दोस्तों जैसे कि हमने आपको बताया शरीर के किसी भी अंग में उस की मांसपेशियों में अधिक तनाव महसूस होना यानी कि उस जगह किसी विशिष्ट कारण की वजह से मोच आई हुई है यह उसका अर्थ होता है| जाने कि इसमें ऐसा होता है, अगर आपके गर्दन में मोच आई हो तो उस जगह अगर आप हाथ लगाते हो तो आपको दर्द महसूस होता है, और उसी जगह आपको सूजन दिखाई देती है जो की मांसपेशियों के कारण उस जगह पर सूजन आ जाती है |अब मोच आने के बहुत सारे कारण होते हैं| जैसे कि; 

  • अधिक ज्यादा कसरत वाले काम करने की वजह से शरीर की मांसपेशियों में खिंचाव आ सकता है; जिसकी वजह से आपके कंधे में पांव में या हाथों में या एडियो में मोच आ सकती है|
  • रात को सोते समय नींद में किसी एक अंग का अपने शारीरिक वजन के वजह से दब जाना; यानी कि आप ज्यादा समय तक एक ही साइड में अगर सोते हो तो उस साइड की नसों में मोच आ सकती है|
  • एक जगह अधिक समय से बैठना है जिसकी वजह से शरीर का ब्लड सरकुलेशन रुक जाता है, और मांसपेशियों में तनाव महसूस होने लगता है|
  • अगर आप कसरत करते हैं, तो अधिक वजन उठाने के कारण आपकी मांसपेशियों में मोच आ सकती है|
  • अगर आप एक स्पोर्ट्स प्लेयर है, तो ज्यादा भागदौड़ करने की वजह से आपके पैरों में मोच आना स्वाभाविक है|
  • अगर आप एक स्विमर यानी कि तैराकु तो पानी में अधिक समय से ज्यादा तैरने की वजह से आपके पांव में या फिर आपके पीठ में मोच आ सकती है|
  • warm up किए बिना अगर आप किसी भी क्रिया को एकदम से करते हैं, तो ऐसे में मांसपेशियों में तनाव आ जाता है|
  • अगर आप ऐसी किसी भी प्रकार की क्रिया करते हैं जिसमें आपके शरीर की मांसपेशियों में भारी तनाव आ सकता है, तो उस समय आपको मोच आना स्वाभाविक है; जैसे कि काफी सामान से भरा हुआ बैग आप अगर ज्यादा समय तक अपने कंधे से लटका रखते हैं, तो ऐसे में गर्दन से सीने से जुड़ी मांसपेशियों में रक्त का संचार कम हो जाता है, और उस जगह मोच आना संभव हो सकता है|

मोच आने पर क्या करें? Moch Aane par kya kare?

दोस्तों अगर आपको शरीर के किसी भी अंग में मोच आती है तो सबसे पहले डरे नहीं आपके शरीर के जिस भी हिस्से में मोच आई है उस हिस्से को ज्यादा हिलाए नहीं| जिससे मांसपेशियों की मोमेंट कम हो और आपका दर्द कम हो| जिस भी शारीरिक अंग में आपको मोच आई हुई है उस अंग को हाथों से धीरे-धीरे से लाए ताकि मोच आई हुई जगह की सूजन कम हो सकती है| 

अगर मोच आने के बाद आपको अधिक ज्यादा दर्द महसूस होता हो; जैसे कि मांसपेशियों में ज्यादा खिंचाव महसूस होना उसी कारण आप के शारीरिक अंगों में दर्द होना या फिर कभी कबार अगर आपके कंधे में गर्दन में या फिर पीठ में मोच आई हुई होती है| तो सांस लेने में दिक्कत होती है; अगर आपको यह परेशानी ज्यादा मात्रा में हो रही हो तो आप आपके निजी डॉक्टर की सलाह जरूर ले| और डॉक्टर की सलाह अनुसार आप एंटीबायोटिक दवाइयों का सेवन करके मोच से छुटकारा पा सकते हैं|

मोच आने पर घरेलू उपाय? Moch aane par gharelu upay ?

दोस्तों जैसे की मोच आना यह एक आम बात होती है; और अगर आप के शारीरिक अंगों में बार बार मोचो आती हो तो आपको यह भी मुमकिन नहीं होगा कि बार-बार अपने निजी डॉक्टर से चेकअप करवाएं| लेकिन अगर आपकी मोच गंभीर हो तो हम आप को यही सलाह देते हैं कि आपके निजी डॉक्टर से जरूर सलाह ले और चेकअप करवाएं|

लेकिन मोच आने पर कई तरह के ऐसे घरेलू उपाय है, जिनको आसमा कर आप आसानी से कुछ घंटों में या 1 दिन में या 2 दिन में आप मोच से राहत पा सकते हैं| तो आइए देखते हैं आगे की जानकारी में मोच आने के घरेलू उपाय|

गर्म पानी की सिकाई : Hot water therapy :

दोस्तों आपके शरीर के किसी भी अंग में अगर मोच आई हो तो आप उस जगह पर गर्म पानी से सिकाई कर सकते हैं| जैसे की गर्म पानी आप डायरेक्ट उस जगह पर डाल सकते हैं जहां पर मोच आई हुई है; इससे आपकी मांसपेशियों में लचीलापन आ जाता है| या फिर बाजार में गर्म पानी से सिकाई करने वाली रेडीमेड प्लास्टिक की थेली मिलती है, जिसमें गर्म पानी डालकर आप आपके शरीर के किसी भी अंग की आसानी से सिकाई कर सकते हैं|

ठंडे बर्फ से सिकाई : Ice therapy :

दोस्तों आप सोच में पड़ गए होंगे कि ठंडा बर्फ किस तरह से मोच पर इलाज कर सकता है| दोस्त हो तो पहली बात यह जान ले बर्फ जितना ठंडा होता है वह उतना ही गर्म होता है, मोच से राहत पाने के लिए आपको बर्फ के दो-तीन आइस क्यूब लेने हैं; और उन्हें किसी कपड़े में लपेटकर उस जगह पर सिकाई करनी है जहां पर मोच आई हुई है; बर्फ उस जगह की मांसपेशियों को लचीला कर देता है, और ब्लड सरकुलेशन को नॉर्मल तरीके से बना देता है जिससे मांसपेशियों की मोच आसानी से गायब हो जाती है|

बजरंग लेप : Bajrang lape :

दोस्तों बजरंग लेप यह आपको बाजार में किसी भी मेडिकल शॉप पर आसानी से 15 से ₹20 में मिल जाएगा जिसमें आयुर्वेदिक तत्वों को इस्तेमाल करके पाउडर बनाई हुई होती है जिसे पानी के साथ गर्म करके आपको आपके मोच आई हुई इससे पर लगाना होता है| जिससे आपकी मांसपेशियों में लचीलापन आ जाता है और वह जैसे जैसे सूखने लगता है वैसे वैसे मांसपेशियों में खिंचाव निर्माण करता है जिससे आपके ब्लड सरकुलेशन में आसानी होती है और मांसपेशियों में आया आई हुई मोच आसानी से दूर हो जाती|

सेंधा नमक : Sendha Namak :

दोस्तों सेंधा नमक यह गर्म पानी में मिलाकर उस पानी से अगर आप स्नान करते हैं; तो आपके शरीर में हर जगह की मांसपेशियों में एक लचीलापन आ जाता है, और आप मोच से राहत पा सकते है|

नारियल का तेल : Coconut Oil :

दोस्तों नारियल का तेल यह इंसान के शरीर के लिए एक जड़ी बूटी की तरह काम करता है, जो आप खाने में भी इस्तेमाल कर सकते हैं; और कई सारे प्रकार के ऐसे लोग हैं, जो नारियल के तेल के इस्तेमाल से आप दूर कर सकते हैं, उनमें से एक ही है मोच आना? आपके शरीर के किसी भी अंग में अगर मोच आई हुई है, तो आप नारियल के तेल से मसाज करके मोच से राहत पा सकते हैं|

जैतून का तेल : Jaitun oil :

जैतून के तेल को गर्म करके उस गर्म तेल से यानी कि अधिक गर्म ना करते हुए गुनगुने तेल का इस्तेमाल आपने आपकी मोच आई हुई जगह पर करना है; वहां पर जैतून के तेल से अच्छे से मसाज करने से आपकी मांसपेशियों को आराम मिलता है, और जल्द ही आप की मोच गायब हो जाती है|

इलास्टिक बैंडेज का इस्तेमाल : Elastic Bandage :

दोस्तों अगर आपके शारीरिक अंग के किसी ऐसी जगह पर मोच आई हुई है, जैसे कि हाथ में पांव में या गर्दन में जिस जगह पर आप इलास्टिक बैंडेज बांध सकते हैं; तो ऐसे जगह झंडू बाम या फिर आयोडेक्स या फिर अमृतांजन बाम या फिर मूव जैसी क्रीम लगाकर अच्छे से मसाज करने के बाद उस जगह को इलास्टिक बैंडेज से लपेट लें और एक-दो घंटे के लिए उसे वैसे ही बंदे रखें जिससे मांसपेशियों में गर्माहट पैदा होकर उन में लचीलापन आ जाता है, और आप आसानी से मोच राहत पा सकते हैं|

तो दोस्तों इत्यादि प्रकार के कई सारे घरेलू उपाय आप आजमा कर मोच से राहत पा सकते हैं| अगर आपको ऐसे ही कई प्रकार की परेशानियों में या फिर शारीरिक प्रॉब्लम्स में घरेलू उपाय चाहिए होंगे तो जुड़े रहिए हमारे फ्री सिंपलीफाइड इनफॉरमेशन की वेबसाइट से जहां पर हम आपको केवल घरेलू उपाय बता कर ही आपके परेशानी का हल दे सकते हैं| धन्यवाद|

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

error: Content is protected !!