पित्त के बारे में जानकारी? Pitta ki Jankari?

पित्त के बारे में जानकारी?

नमस्कार दोस्तों स्वागत है, आपका हमारे फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन की वेबसाइट पर जहां पर आज हम आपको पित्त के बारे में जानकारी देने वाले हैं| जैसे कि; पित्त क्या है, पित्त क्यों होता है, पित्त के परिणाम क्या है, पित्त का इलाज कैसे कर सकते हैं, पित्त पर घरेलू उपाय क्या है? इत्यादि जैसे सवालों पर आज आप आप को संक्षिप्त रूप में जानकारी देने वाले हैं, जो आपको आपके निजी जीवन में पित्त से राहत पाने में मदद कर सकती है|

सबसे पहले हम जान लेते हैं, पित्त क्या है दोस्तों की तो यह एक एलर्जी होती है; जिसके परिणाम स्वरूप शरीर की त्वचा पर इंफेक्शन हो जाता है, जैसे कि शरीर के किसी भी अंग की त्वचा पर पिंपल्स हो जाना लाल धब्बे आना त्वचा पर सूजन हो जाना त्वचा में जलन महसूस होना इत्यादि जैसे परिणाम शरीर की त्वचा पर देख सकते हैं, और वह 1 से 2 दिनों तक आपकी त्वचा पर इस प्रकार की एलर्जी को बनाए रखते हैं|

पित्त को अंग्रेजी में अर्टिकारिया कहते हैं| पित्त होने के बाद त्वचा में खुजली होती है, और खो जाने की वजह से आपकी त्वचा पर जख्म हो जाते हैं जिसकी वजह से शरीर की त्वचा में अधिक जलन महसूस होती है तो आइए गहराई में जानकारी लेते हैं, कि पित्त कैसे होता है?

पित्त कैसे आता है? Pitta kaise aata hai ?

दोस्तों जैसे कि हमने आपको कहा पित्त को अर्टिकारिया कहते हैं, जो कि एक स्किन एलर्जी कहलाता है, जैसे कि पित्त किसी विशिष्ट प्रकार की चीज खाने पर इसकी एलर्जी हो जाती है; उदाहरण के तौर पर देखा जाए तो मछली, टमाटर, नॉनवेज, दूध, दही इत्यादि जैसी चीजें खाने पर इंसान के शरीर पर पित्त याने एलर्जी होने लगती है, जिसमें शरीर हिस्टामाइन नाम का प्रोटीन उत्पन्न करता है; और वह त्वचा में सूजन और लाल दाग धब्बे निर्माण करता है, जिसमें आपको धीरे-धीरे खुजली करने की इच्छा होती है| और वह त्वचा जलन महसूस करती है| दूसरे नजरिए से देखा जाए तो पिक तो यह किसी कीड़े के काटने की वजह से या किसी जानवर को हाथ लगाने की वजह से जैसे कि पालतू जानवर कुत्ता बिल्ली या किसी प्रकार का पक्षी के संपर्क में आने के वजह से पित्त होने की संभावना हो सकती है| या फिर पीते किसी भी प्रकार की केमिकल के संपर्क में आने की वजह से भी आपके त्वचा पर हो सकता है जो कि ज्यादा देर तक नहीं रहता है लेकिन जब तक रहता है अधिक दर्दनाक होता है|

See also  रोगप्रतिकार शक्ति कैसे बढ़ाएं ? how to boost immune system

पित्त आने पर घरेलू उपाय : Pitta par gharelu upay :

दोस्तों पित्त होने पर आपको ज्यादा घबराना नहीं है; क्योंकि यह घरेलू उपाय आजमाकर आसानी से चला जाता है, जिसके बारे में हम आपको जानकारी देने वाले हैं, कि किस प्रकार के घरेलू उपाय आजमाकर आप पित्त से राहत पा सकते हैं|

पित्त के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल : Pitta par Alovera :

दोस्तों जैसे कि आप सभी को पता ही है की एलोवेरा अधिकतम ठंड रहता है, और एलोवेरा के रस में एंटी बैक्टीरियल और मॉइश्चराइज करने वाले गुन रहते हैं जो त्वचा को किसी भी प्रकार की एलर्जी से बचाने में काफी मददगार साबित होता है| तो पित्त होने के बाद अगर आप आपकी त्वचा पर जिस जगह पित्त हुआ है, वहां पर एलोवेरा का रस या एलोवेरा का जेल लगाते हैं तो वह तुरंत आपको उस एलर्जी से राहत मिल सकती है|

टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल : Tea tree oil ka istemal :

दोस्तों टी ट्री ऑयल में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं; जो त्वचा को सभी प्रकार की एलर्जी से बचाने में सक्षम होता है| और साथ ही साथ इसमें सूजन ना आए इसके लिए भी एक अलग गुण होता है, अगर आपकी त्वचा पर किसी भी जगह सूजन आई हुई हो तो आप टी ट्री ऑयल लगाकर उससे राहत पा सकते हैं| जिस जगह पर भी आपको पीता हुआ है उस जगह पर आप टी ट्री ऑयल लगाकर पित्त से राहत पा सकते हैं|

मछली का तेल : Fish Oil for ptta :

दोस्तों जैसे कि आपने सुना ही होगा और हमने भी ऊपर की जानकारी में बताया है; कि मछली खाने की वजह से भी पित्त हो सकता है, लेकिन पित्त से राहत पाने के लिए आप मछली के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं, क्योंकि मछली के तेल में फैटी एसिड और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो पित्त को आसानी से दूर भगाने में मदद करते हैं|

नारियल का तेल : Coconut Oil :

दोस्तों नारियल का तेल ही हो इंसान के शरीर के लिए एक रामबाण उपाय होता है, जिसमें एंटीबैक्टीरियल और मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं; साथ ही साथ नारियल के तेल से अगर आप मसाज करते हैं, या फिर जिस जगह भी पीता हुआ है उस जगह पर तेल लगाते हैं, तो उससे उस जगह की सूजन आसानी से कम हो जाती है, और आप पित्त से छुटकारा पा सकते हैं|

See also  शरीर में सूजन आना? Swelling in body?

अदरक और नींबू का इस्तेमाल : Ginger Or Lemon ka istemal :

दोस्तों अदरक और नींबू में कई प्रकार के विटामिंस होते हैं, जिसमें विटामिन सी और विटामिन डी फैटी एसिड इत्यादि प्रकार के गुण होते हैं| और यह ब्लड सरकुलेशन अच्छे से होने में भी मदद करते हैं; जिससे आपका ब्लड प्यूरीफायर भी होता रहता है और आपकी त्वचा को किसी भी प्रकार की एलर्जी से बचाने में मदद करता है|

पित्त ना आए इसके लिए क्या करें? Pitta ko kaise roke :

दोस्तों पित्त यह सभी इंसानों को नहीं आता है; जिन लोगों की इम्युनिटी सिस्टम अगर कम हो या फिर किसी इंसान को किसी प्रकार की एलर्जी हो जैसे कि खाने की, पीले की, या फिर पालतू जानवरों के संपर्क में आने की वजह से, या फिर बाहरी वातावरण के कारण उस इंसान को पित्त की एलर्जी होती हो तो ऐसे इंसानों ने अपने दैनंदिन जीवन में खाने पीने का काम करने का और अपने आप को ऐसी जगह से सुरक्षित रखने का इंतजाम कर ले| ऐसी किसी भी प्रकार की क्रिया ना करें कि जिसके वजह से आप इन चीजों के संपर्क में आकर उसके वजह से आपको पित्त की एलर्जी हो| अगर गलती से पित्त की एलर्जी आपको हो भी जाती है; तो आप हमने बताए हुए घरेलू नुस्खे आजमाकर पित्त से राहत पा सकते हैं| पित्त होने पर खट्टी चीजों को खाना बंद कर दे क्योंकि खट्टी चीजों की वजह से पित्त और भी बढ़ सकता है| हमेशा अपने आप को क्लीन रखें अपनी त्वचा को सुखी रखे, किसी भी प्रकार की गीले कपड़े नहीं पहने, ज्यादा पसीना आता हो तो रोजाना दो वक्त नहाए| और हमेशा ऐसी चीजों से दूर रहें जिसके वजह से आपको एलर्जी हो सकती है|

पित्त आने पर क्या खाएं? Pitta Aane par kya khaye?

दोस्तों सबसे पहले हम यह बता देते हैं; कि पित्त होने पर खट्टी चीजों को वर्जित कर दे खट्टी चीजें बिल्कुल भी ना खाएं इससे पित्र अधिक बढ़ता है|

See also  कंधे में दर्द होना? Shoulder pain?

पित्त आने पर आप ज्यादातर फल फ्रूट्स या जूस पी सकते हैं; जो कि आपके शरीर में विटामिंस, प्रोटींस, एनर्जी, आयरन सभी प्रकार की एनर्जी को भरपूर मात्रा में बैलेंस बनाए रखता है| और आपकी यूनिटी पावर को बढ़ाता है, और यह ऐसी एलर्जी है, जो कि एबिलिटी पावर अगर आपकी स्ट्रांग हो तो उसी से जल्द से जल्द दूर हो जाता है| क्योंकि पित्त यह एक त्वचा के संबंधित परेशानी है, और त्वचा से संबंधित किसी भी प्रकार की एलर्जी या परेशानी यह केवल आपके यूनिटी पावर की वजह से ही दूर हो सकती है; जिसमें आपकी रोग प्रतिकार शक्ति आपकी त्वचा में एंटीबैक्टीरियल गुण निर्माण करती है, और बाहरी रूप से किसी भी प्रकार की एलर्जी को वह जड़ से खत्म करने में मदद करती है|

पित्त होने पर ज्यादातर कट्टी मीठी और तीखी चीजों को वर्जित कर दे; यानी कि आपके भोजन यह साधारण ही होना चाहिए ना कि ज्यादा तीखा और ना कि ज्यादा मीठा और ना ही ज्यादा खट्टा| अगर आप साधारण और हल्का भोजन करते हैं, तो आपके शरीर को काफी फायदा होता है| और वह आसानी से पित्त को दूर करने में सक्षम होता है| क्योंकि पित्त यह पाचन तंत्र से जुड़ा हुआ होता है, और आप का पाचन तंत्र जितना हेल्थी रहेगा उतना आपको पित्त से राहत पाने में मदद मिलेगी| पाचन तंत्र को हेल्दी रखने के लिए आपको एक या दो दिन तक हल्का और साधारण भोजन ही सेवन करना है जिसकी वजह से आपके पाचन तंत्र को खाना हजम करने में ज्यादा कठिनाई ना हो|

दोस्तों आज हमने आपको हमारी फ्री सिंपलीफाइड इंफॉर्मेशन की वेबसाइट पर पित्त के बारे में संक्षिप्त रूप में जानकारी देने का प्रयास किया हुआ है, और उस पर घरेलू उपाय बताए हुए हैं| जिसको आजमा कर आप पित्त से राहत पा सकते हैं| अगर आप की पित्त की एलर्जी अधिक मात्रा में हो तो कृपया करके आप के निजी डॉक्टर से सलाह मशवरा करें और डॉक्टर के सलाह अनुसार दवाइयों का इस्तेमाल करें जिससे आपको भी फायदा हो सकता है| धन्यवाद|

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top